अंतरराष्ट्रीय उत्सव : ऊंटों पर दिखेगी महाराणा प्रताप की आकृति व कृष्ण लीला

International Camel Festival 2020- आस-पास के गांवों में ऊंटपालक कर रहे कटिंग

 

By: Atul Acharya

Updated: 06 Jan 2020, 08:50 PM IST

बीकानेर. इस बार होने वाले अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव के लिए ऊंटों की फर कटिंग की जा रही है। जिसमें ऊंटों पर विशेष तरह की आकृति बनाकर मूर्त रूप दिया जा रहा है। इस बार ऊंटों पर महाराणा प्रताप व कृष्ण तथा शिव लीला की आकृति विशेष तौर पर आकृति की जा रही है। अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव को लेकर शहर व आस-पास गांवों के ऊंटपालकों में काफी उत्साह देखा जा रहा है। यह ऊंट पालक सुबह व शाम को उत्सव के लिए ऊंटों पर कटिंग कर विशेष तरह की आकृति दे रहे है जिससे उनके ऊंट सबसे अलग दिखे। ऊंटपालक महमूद ने बताया कि इस बार ऊंट पर विशेष तरह के फूलों की पत्तियां, शेर, ऊंट गाड़ों, हनुमान की मूर्ति के अलावा करीब १०१ आकृतियां बनाई जा रही हैं।

अक्कासर गांव के ऊंटपालक रामजी ने बताया कि ऊंट पर महाराणा प्रताप का चित्र, कृष्ण व शिव लीला बनाई गई है। ऊंट पर हिरण, मोर, कृष्ण, गणेश, हनुमान, गाय, हाथी, बाज, तोता के अलावा करीब १५ से २० तरह के चित्र की आकृतियां बनाई गई। रामजी ने बताया कि पांच दिनों से ऊंट पर आकृतियां बना रहे है। इसके लिए रोजाना सुबह व शाम को दस घंटे काम कर रहे है। अगले पांच दिनों में ऊंटों पर पूरी तरह से आकृतियां बन जाएगी।

विदेशी कलाकार भी देंगे प्रस्तुति
इस बार ऊंट उत्सव में पहली बार विदेशी कलाकार भी अपनी प्रस्तुति देंगे। इसके लिए पर्यटन विभाग ने विदेशी कलाकारों के ग्रुप को आमंत्रित किया है। इसके अलावा सूरसागर में ९ जनवरी को लेजर एंड साउंड शो का आयोजन भी होगा।

उष्ट्रासन और वृक्षासन का पूर्वाभ्यास
ऊंट महोत्सव में संगीत संध्या, हैरिटेज वॉक के अलावा जुनागढ़ में संगीतमय योग का आयोजन भी 10 जनवरी को सुबह 7.30 से 9.30 बजे तक होगा। कैमल फेस्टिवल में होने वाले संगीतमय योग के कार्यक्रम की तैयारियों के तहत शहर के युवक-युुवतियों की ओर से जूनागढ़ के सामने उष्ट्रासन (कैमल योगा पोज) वृक्षासन एवं विभिन्न योगासन का पूर्वाभ्यास संगीत के साथ किया गया। दीपक शर्मा ने बताया कि कार्यक्रम में विभिन्न योग मुद्राओं, आसनों, प्राणायाम एवं संगीतमय ध्यान का अभ्यास करवाया जाएगा।

जिसमें शहरवासी हिस्सा ले सकेंगे, योग को ऊंट उत्सव के साथ जोडऩे का उद्देश्य भारत की प्राचीन परम्पराओं एवं संस्कृति को विश्व के मानचित्र पर स्थापित करने के लिए किया है। इस मौके पर अमित मोदी, सपना, युक्ता लेघा, खुशबू मीनाक्षी, निशा, प्रिया पारीक, प्रियंका, विनीत, रौनक, डॉ. अर्जुन व्यास उपस्थित रहें।

Show More
Atul Acharya Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned