शहर के विभिन्न मंदिरों और घरों में कृष्ण जन्मोत्सव बड़ी धूम-धाम से मनाया गया। मंदिरों में विशेष सजावट करने के साथ-साथ कई स्थानों पर कृष्ण झांकी भी आकर्षण का केन्द्र रही। भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। रात को मंदिरों में विशेष आरती हुई। मंदिरों और घरों म ठाकुरजी के जन्म पर पंचामृत से अभिषेक कर एक दूसरे को बधाइयां दी।

 

वहीं नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की, गीतों से माहौल को कृष्ण मय कर दिया। विभिन्न गली-मोहल्लों में जन्माष्टमी की झांकियां सजाई गई। वहीं नगर के वैष्णव मंदिरों में भी जन्माष्टमी पर विशेष मनोरथ हुआ। दम्माणी चौक स्थित बड़ा गोपालजी मंदिर, समीप के छोटा गोपालजी मंदिर, दाऊजी मंदिर, गिरीराजजी मंदिर, द्वारिकाधीश मंदिर, तुलसी कुटीर सहित विभिन्न मंदिरों में कृष्ण जन्मोत्सव बड़ी धूमधाम से मनाया गया। मरुनायक मंदिर में स्वर्ण आभूषणों से ठाकुरजी का शृंगार किया गया।

 

इसके अलावा रांगड़ी चौक, गंगाशहर, सुजानदेसर सहित विभिन्न क्षेत्रों में जन्माष्टमी को लेकर जबर्दस्त उत्साह देखने को मिला।रामपुरा बस्ती स्थित गढ़वाली मोहल्ले में जन्माष्टमी पर कार्यक्रम आयोजित हुआ। इसमें बच्चों ने रंगारंग प्रस्तुतियां देकर कृष्ण जन्मोत्सव मनाया। इस अवसर पर बच्चों ने देशभक्ति गीतों पर सांस्कृति प्रस्तुति देते हुए तालियां बटोरी।

 

इस बार जन्माष्टमी की झांकियों में देश भक्ति का रंग देखने को मिला। भीनासर के बांठिया चौक स्थित कृष्णा भवन में इस बार जन्माष्टमी की झांकियां खास कर देश भक्ति के रंग में रंगी नजर आई। आयोजन से जुड़े जगदीश मीमाणी ने बताया कि इस बार सर्जिकल स्टाइक, कारगिल युद्ध की झांकियों के साथ ही 1947 से लेकर अब तक के सभी प्रधानमंत्रियों के कार्यकाल के दौरान लाल किले पर हुए झंडारोहण का चित्रण पेश किया गया है। इसके अलावा कृष्ण लीला, शिव दर्शन की झांकी सजाई गई है।

 

रघुनाथ मंदिर में प्रतियोगिताएं
तेलीवाड़ा चौक स्थित रघुनाथ मंदिर में जन्माष्टमी के मौके पर मंदिर में छप्पन भोग का आयोजन हुआ, साथ ही झांकियां सजाई गई और मटकी फोड़ प्रतियोगिता भी हुई। साथ ही श्रीकृष्ण वेशधारी बच्चों की प्रतियोगिता में प्रथम रहने वाले को बच्चे को पुरस्कृत किया गया।

 

जीएसटी पर झांकी
भीनासर स्थित मुरली मनोहर मंदिर में इस बार अमरनाथ यात्रा और जीएसटी की विशेष झांकी सजाई गई। इसके अलावा कृष्ण की बाल लीलाओं की झांकी भी बनाई गई। मंदिर समिति के लक्ष्मीनारायण सुथार ने बताया कि मंदिर परिसर में बीते 25 साल से जन्माष्टमी का उत्सव मनाया जा रहा है।

 

रोट्रैक्ट क्लब ने किया झांकियों को पुरस्कृत
श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर रोट्रैक्ट क्लब की ओर से शहर में सजी हुई सर्वश्रेष्ठ झांकियों को पुरस्कृत किया गया। इसमें प्रथम द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रही झांकियों को स्मृति चिन्ह भेट कर सम्मानित किया गया। यह जानकारी अध्यक्ष आशीष गुप्ता ने दी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned