जेईई-मेन की अप्रेल में प्रस्तावित परीक्षा को लेकर विद्यार्थी 11 से 15 मार्च कर सकेंगे आवेदन

आर्थिक आधार पर पिछड़े वर्ग को दस प्रतिशत आरक्षण के बाद अप्रेल माह में होने वाली जेईई-मेन परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को भी आरक्षण का लाभ मिलेगा। यह आरक्षण उन विद्यार्थियों के लिए लागू होगा जो अभी तक किसी भी आरक्षण नीति के तहत नहीं आते हैं।

By: Nikhil swami

Updated: 03 Mar 2019, 09:57 AM IST

बीकानेर. आर्थिक आधार पर पिछड़े वर्ग को दस प्रतिशत आरक्षण के बाद अप्रेल माह में होने वाली जेईई-मेन परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को भी आरक्षण का लाभ मिलेगा। यह आरक्षण उन विद्यार्थियों के लिए लागू होगा जो अभी तक किसी भी आरक्षण नीति के तहत नहीं आते हैं।

 

अर्थात एेसे विद्यार्थी जिनको एससी, एसटी एवं पिछड़े वर्ग का आरक्षण प्राप्त है उन्हें इस आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा। इस आरक्षण का लाभ उन विद्यार्थियों को मिलेगा जिनके परिवार की वार्षिक आय आठ लाख रूपए से कम है और जिनके पास पांच एकड़ से अधिक कृषि भूमि, एक हजार वर्गफीट से अधिक का आवासीय मकान या 100 वर्ग यार्ड का स्थानी प्रशासन द्वारा स्वीकृत आवासीय बस्ती में भूखंड तथा 200 वर्ग यार्ड का सामान्य क्षेत्र में भूखंड नहीं होना चाहिए।

 

आरक्षण को लेकर सूचना जेईई-मेन की वेबसाइट पर जारी कर दी गई है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से जारी किए गए इस आदेश के अनुसार शिक्षण संस्थानों को यह आरक्षण देने के लिए आवश्यकतानुसार सीटें बढ़ानी होगी और पुरानी सीटें भी यथावत रखनी होगी।

 


विद्यार्थियों को लाभ
आरक्षण से आठ लाख से कम पारिवारिक वार्षिक आय वाले अनारक्षित विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा। जेईई-मेन की ओर से इस संबंध में जारी किए गए पब्लिक नोटिस के अनुसार इस आरक्षण का लाभ लेने के लिए 11 से 15 मार्च तक ऑनलाइन आवेदन में इस ईडब्ल्यूएस कैटेगिरी के विद्यार्थियों को विशेष उल्लेख करना होगा।
सुमित शर्मा, एक्सपर्ट।

Nikhil swami Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned