scriptकम वोटिंग ने बढ़ाई भाजपा-कांग्रेस प्रत्याशियों के दिलों की धड़कनें | Patrika News
बीकानेर

कम वोटिंग ने बढ़ाई भाजपा-कांग्रेस प्रत्याशियों के दिलों की धड़कनें

लोकसभा क्षेत्र के दो विधानसभा क्षेत्र नोखा और कोलायत सुबह मतदान शुरू होने के दो घंटे बाद ही चर्चा में आ गए। वोटरों के घर से निकल कर बूथ पर नहीं पहुंचने ने निर्वाचन विभाग के साथ प्रत्याशियों की चिंता भी बढ़ा दी। नोखा में पहले दो घंटे में सुबह 7 से 9 बजे तक […]

बीकानेरApr 20, 2024 / 06:07 pm

Atul Acharya

लोकसभा क्षेत्र के दो विधानसभा क्षेत्र नोखा और कोलायत सुबह मतदान शुरू होने के दो घंटे बाद ही चर्चा में आ गए। वोटरों के घर से निकल कर बूथ पर नहीं पहुंचने ने निर्वाचन विभाग के साथ प्रत्याशियों की चिंता भी बढ़ा दी। नोखा में पहले दो घंटे में सुबह 7 से 9 बजे तक मतदान महज 6.85 फीसदी रहा। दोपहर एक बजे तक भी यहां मतदान का प्रतिशत 25 तक नहीं पहुंच पाया। यही चाल अंत तक रही। कोलायत में भी पहले दो घंटे में 8 फीसदी और शाम पांच बजे तक 42 फीसदी ही मतदान हुआ। दोनों विधानसभा क्षेत्र में मतदान कम रहने के कारणों की राजनीतिक विश्लेषक दिनभर खोजबीन करते रहे। इसमें प्रमुख कारण उभर कर आया राजनीतिक दलों के स्थानीय नेताओं की निक्रियता।
सब कुछ तकनीकी तौर पर रहा। नतीजा डाटा विश्लेषण में तो मतदाता तक पहुंच हो गई, लेकिन उन्हें मतदान बूथ तक नहीं लाया जा सका। ग्रामीण तो दूर, शहरी क्षेत्र में वोटरों को घर से निकालकर बूथ तक पहुंचाने के लिए जिस तरह राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता सक्रिय रहते हैं, इस बार देखने को नहीं मिले। दोनों जगह वोटरों की उदासीन भी मतदान प्रतिशत कम रहने का बड़ा कारण रहा।
आशंका दोनों तरफ
मतदान से पहले चले प्रचार अभियान के दौरान भाजपा और कांग्रेस दोनों के ही प्रत्याशी इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों को लेकर आशंकित थे। ऐसे में जैसे ही पहले दो घंटे में मतदान बहुत कम होने की सूचना आई, भाजपा और कांग्रेस के संभाग मुयालय से मॉनिटरिंग कर रही टीमें सक्रिय हो गईं। दोनों ही पक्षों ने अपने-अपने प्लान बी को लागू कर टीम को सक्रिय कर दिया। टीमों को मतदाताओं को घरों से लाने के लिए सक्रिय किया।

Hindi News/ Bikaner / कम वोटिंग ने बढ़ाई भाजपा-कांग्रेस प्रत्याशियों के दिलों की धड़कनें

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो