बांझपन दूर करने की तकनीक बताई...

सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के प्रसूति विभाग की ओर से दो दिसवीय सेमिनार 'राज इंडोगायनी-२०१९Ó शनिवार से जयपुर रोड स्थित थार एक्जोस्टा में शुरू हुई। इसका उद्घाटन संवित सोमगिरी महाराज ने किया। सेमिनार में विशेष रूप से मातृत्व मृत्यु दर रोकने पर मंथन किया गया। इसी उद्देश्य से राष्ट्रीय सेमिनार की थीम भी 'सेव मदर सेव मदर प्लेनेटÓ रखी गई।

बीकानेर. सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के प्रसूति विभाग की ओर से दो दिसवीय सेमिनार 'राज इंडोगायनी-२०१९Ó शनिवार से जयपुर रोड स्थित थार एक्जोस्टा में शुरू हुई। इसका उद्घाटन संवित सोमगिरी महाराज ने किया। सेमिनार में विशेष रूप से मातृत्व मृत्यु दर रोकने पर मंथन किया गया। इसी उद्देश्य से राष्ट्रीय सेमिनार की थीम भी 'सेव मदर सेव मदर प्लेनेटÓ रखी गई।

आयोजन समिति अध्यक्ष एवं जनाना विभागाध्यक्ष डॉ. सुदेश अग्रवाल ने बताया कि सम्मेलन में सुरक्षित मातृत्व, कृत्रिम गर्भाधान, ऑपरेशन की दूरबीन पद्धति के बारे में चर्चा की गई। प्रसव के बाद अत्यधिक रक्तस्राव मातृत्व मृत्यु का एक प्रमुख कारण है, इसे रोकने के लिए नई दवाइयों और तकनीकों को एक-दूसरे से साझा किया।
१५ वीडियो दिखा समझाई नई तकनीक

डॉ. स्वाति फलोदिया ने बताया कि सेमिनार में कृत्रिम गर्भाधान की तकनीक का प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम में जयपुर की डॉ. नमिता व डॉ. गुंजन ने डमी पर कृत्रिम गर्भाधान की तकनीक बताई। डॉ. सुशीला सैनी व डॉ. ललिता व्यास ने गर्भाशय की जटिल बीमारियों कैंसर व रसौली के दूरबीन पद्धति से ऑपरेशन की तकनीक का प्रदर्शन किया। वहीं २0 शोध-पत्रों का वाचन गया गया। समिति की उपाध्यक्ष डॉ. दीप्ति वहल ने बताया कि सेमिनार के दौरान प्रसव की शल्य क्रिया, इडोमेट्रियोसिस, रजोनिवृति, स्तन कैंसर आदि में नई तकनीक के बारे में मंथन किया गया। आइयूआइ का प्रशिक्षण भी जूनियर चिकित्सकों को दिया जाएगा। सेमिनार में एसपी मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. एचएस कुमार, अतिरिक्त प्राचार्य प्रथम डॉ. लियाकत अली गौरी व अतिरिक्त प्राचार्य द्वितीय डॉ. रंजन माथुर भी मौजूद रहे।
सांस्कृतिक संध्या में थिरके चिकित्सक

शाम को सांस्कृतिक संध्या का आयोजन हुआ, जिसमें महिला चिकित्सकों ने फिल्मी, राजस्थानी गीतों पर नृत्य प्रस्तुत किया। वहीं कई महिला चिकित्सकों ने एकल व समूह गीत की प्रस्तुतियां दी। किसी ने गीत गाया तो किसी ने तबला बजाकर सबका मनमोहा।

Ramesh Bissa Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned