हॉटस्पॉट में 10 दिन में कोई नया कोरोना मरीज नहीं, पॉजिटिव बचे केवल पांच

कई इलाकों में नहीं मिला एक भी रोगी फिर भी लगा है कफ्र्यू
101 लोगों की रिपोर्ट पर स्वास्थ्य विभाग की नजर

By: Jaiprakash

Published: 23 Apr 2020, 09:00 AM IST

बीकानेर। कोरोना वायरस से बीकानेर निजात पाने में ९५ प्रतिशत सफल हो गया है। शहर में हॉट-स्पॉट क्षेत्र में १० दिन में कोई नया कोरोना मरीज नहीं मिला है। अब केवल पांच मरीज बचे हैं, जिनकी भी दो दिन में अंतिम रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद छुट्टी दे दी जाएगी। बुधवार सुबह ३५ सैम्पलों की और रिपोर्ट नेगेटिव आई। ऐसे में तीन दिन में १६९ सैम्पलों की रिपोर्ट नेगेटिव आने से स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ने राहत महसूस की है।

सबसे बड़ी बात है कि १९ अप्रेल को एक बीकानेर और एक देसलसर के युवक के पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन एकबारगी सकते में आ गया था लेकिन इन दोनों के संपर्क में आए ६२ मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर राहत की सांस ली। वहीं बीकानेर का हॉटस्पॉट बना सिटी कोतवाली का तेली लुहारान मोहल्ला में से १२ अप्रेल के बाद एवं रानीसर बास में पांच अप्रेल के बाद कोई पॉजिटिव मरीज नहीं आया है। वहीं दूसरी और हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों में प्रशासन की ओर से महाकफ्र्यू और कफ्र्यू जारी है। लंबे समय तक मरीज रिपोर्ट नहीं होने के बावजूद ढील नहीं देने से लोगों का सब्र का बांध टूटने लगा है। घरों में कैद लोगों को खाद्य सामग्री का संकट झेलना पड़ रहा है। हालात यह है कि चयनितों व गरीबों-असहायों को भामशाह मदद कर रहे हैं लेकिन जो मध्यम वर्ग के लोग है, उनकी हालत अब धीरे-धीरे खराब हो रही है।

पांच का पहला सैम्पल जांच के लिए भेजा
एसपी मेडिकल कॉलेज के अतिरिक्त प्राचार्य डॉ. एलए गौरी ने बताया कि सुपर स्पेशलियटी सेंटर में बीकानेर के पांच और चूरू के दो मरीज भर्ती हैं। सभी मरीजों की यथास्थिति है, जिनका उपचार चल रहा है। बीकानेर के तीन और चूरू के दो मरीजों का पहला सैम्पल जांच के लिए भेज दिया गया। उनकी पहली रिपोर्ट नेगेटिव आने पर शुक्रवार को दुबारा जांच कराई जाएगी। अंतिम रिपोर्ट नेगेटिव आने पर छुट्टी देंगे। गौरतलब है कि हनुमानगढ़ के पांच मरीज अगर बीकानेर भेजे जाएंगे तो सुपरस्पेशलियटी सेंटर में फिर से मरीजों का आंकड़ा बढ़कर १२ हो जाएगा।

मृतक की रिपोर्ट नेगेटिव
डॉ. गौरी ने बताया कि पीबीएम से ३० माहेश्वरी धर्मशाला, तीन मेडिसिन आपातकालीन, तीन सर्जरी, १६ आई वार्ड, ट्रोमा आपातकालीन, कैंसर व सुपर स्पेशलियटी सेंटर से एक-एक मंगलवार को सैम्पल भेजे गए थे, जिनकी रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है। ट्रोमा सेंटर में जिस लावारिस व्यक्ति का सैम्पल जांच के लिए भेजा उसकी भी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। विदित रहे कि मंगलवार रात को लावारिस व्यक्ति की मौत होने पर ट्रोमा आपातकालीन वार्ड का पूरा स्टाफ घबरा कर बाहर आ गया। बाद में वार्ड को रात को ही वार्ड का सेनेटाइजेशन कराया गया।

क्वारेंटाइन में रह रहे १०१ लोगों की जांच पर निगाहे
1सीमएचओ डॉ. बीएल मीणा ने बताया कि शहर में क्वारेंटाइन में रह रहे १०१ व्यक्तियों के १४ दिन पूरे होने पर गुरुवार को फिर से कोरोना की जांच कराई जाएगी। इस जांच में अगर नेगेटिव आते हैं तो बीकानेर से लगभग कोरोना वायरस खत्म सा हो जाएगा। एसपी मेडिकल कॉलेज, पीबीएम अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग, जिला प्रशासन अब इन १०१ सैम्पलों की रिपोर्ट पर नजर गड़ाए हुए हैं। इस रिपोर्ट पर ही बीकानेर में कोरोना फैलने व न फैलने का दरोमदार निर्भर रहेगा।

coronavirus
Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned