खानापूर्ति : नहरी पानी में प्रदूषण की जांच से आगे कुछ नहीं कर पाता नियंत्रण विभाग

Ramesh Bissa | Publish: Jun, 19 2019 01:13:10 PM (IST) Bikaner, Bikaner, Rajasthan, India

जांच: गंगनहर, इंदिरा गांधी और भाखड़ा नहर के पानी के हर महीने ले रहे नमूने जांच के बाद लैब सीधे प्रदेश मुख्यालय को भेजती है रिपोर्ट।

बीकानेर. पंजाब से आने वाले नहरी पानी में मिले अपशिष्टों और प्रदूषित करने वाले कारकों से प्रदेश का प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भी वाकिफ है। हर महीने बोर्ड का क्षेत्रीय कार्यालय इंदिरा गांधी नहर परियोजना, गंगनहर और भाखड़ा नहर की हैडों से पानी के नमूने लेता है। जांच के लिए कोटा लैब भेजते हैं लेकिन रिपोर्ट सीधी मुख्यालय जयपुर ही जाती है। बोर्ड नहरों में आ रहे पानी की गुणवत्ता को लेकर कुछ भी नहीं कर पा रहा है।

 

इसकी एक वजह पानी को प्रदूषित करने वाली फैक्ट्रियां और नाले पंजाब में है। जिन पर कार्रवाई करना क्षेत्रीय कार्यालय के बस की बात नहीं है। बीकानेर में बीछवाल स्थित राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण क्षेत्रीय मंडल की टीम श्रीगंगानगर के खखां हैड व हनुमानगढ़ के मसीतांवाली हैड से नहरी पानी के नमूने लेकर आती है। अधिकारी बताते हैं कि नमूनों को जयपुर स्थित मुख्य कार्यालय भेजा जाता है। जयपुर से नमूनों को कोटा स्थित लैब में भेज दिया जाता है। पानी की गुणवत्ता कैसी है, इसमें कोई खामी है, या नहीं, यह रिपोर्ट कोटा से जयपुर भेज दी जाती है।

 

तीन जिलों की जिम्मेदारी

 

बीकानेर में स्थित प्रदूषण नियंत्रण क्षेत्रीय मंडल में जिम्मे बीकानेर, श्रीगंगागनर व हनुमानगढ़ का जिम्मा है। बीकानेर सहित तीनों जिलों में फैक्ट्रियों से निकलने वाले धुएं, अपशिष्ट पानी आदि को नियंत्रित करने की जिम्मेदारी है।

 

भारी पड़ रहा पॉलीथिन का उपयोग

 

सरकार की ओर से प्रतिबंधित की गई पॉलीथिन का उपयोग करना भारी पड़ रहा है। बीकानेर नगर निगम की ओर से जब्त की गई पॉलीथिन के मामले में राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड क्षेत्रीय कार्यालय ने ३५ प्रतिष्ठानों के खिलाफ न्यायालय में चालान पेश किया है।

 

नहरी पानी का मामला मुख्यालय स्तर का

 

नहरी पानी का नमूना लेते हैं, उसे जांच के लिए मुख्यालय को भेजते हैं। प्रदूषित पानी को आने से रोकने का मामला मुख्यालय स्तर का है। स्थानीय फैक्ट्रियों में निर्धारित मापदंडों के अनुसार संसाधन है, या नहीं है, इसका निरीक्षण करते हैं। प्रतिबंधित पॉलीथिन के मामलों में भी कार्रवाई की है।

प्रेमालाल रेगर, क्षेत्रीय अधिकारी, बीकानेर।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned