scriptNRCC team reached Gandhi village to take care of sick camels | ग्रान्धी गांव में बीमार टोडियों की सुध लेने पहुंचा एनआरसीसी दल | Patrika News

ग्रान्धी गांव में बीमार टोडियों की सुध लेने पहुंचा एनआरसीसी दल

bikaner news: बीमारी का पता लगाने के लिए ऊंटों के रक्त के नमूने लिए

बीकानेर

Published: July 12, 2022 12:11:16 am

बीकानेर. ऊंटों के टोळे में शामिल टोडियों की बीमारी से मौत होने के मामले में राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसन्धान केन्द्र (एनआरसीसी) के वैज्ञानिकों का दल सोमवार को बज्जू क्षेत्र के ग्रान्धी गांव पहुंचा। ऊंट पालक ज्ञानाराम से ऊंटों की हो रही मौतों की जानकारी ली। साथ ही बीमारी का पता लगाने के लिए ऊंटों के रक्त के नमूने लिए और दवाइयां देकर उपचार शुरू किया।
ग्रान्धी गांव में बीमार टोडियों की सुध लेने पहुंचा एनआरसीसी दल
ग्रान्धी गांव में बीमार टोडियों की सुध लेने पहुंचा एनआरसीसी दल
राजस्थान पत्रिका ने "जन्म लेते ही काल का ग्रास बन रहे टोडिये" शीर्षक से तीन दिन पहले समाचार प्रकाशित किया था। इसे गंभीरता से लेते हुए केन्द्र सरकार के संस्थान एनआरसीसी ने वैज्ञानिकों का दल ऊंटों की जांच के लिए भेजा। दल के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. आर.के.सांवल ने बताया कि ग्रान्धी गांव के ज्ञानाराम के ऊंटों के टोळे शामिल 110 ऊंटों और टोडियों की जांच की गई। इनके खून एवं मिंगनी के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। केंद्र के वैज्ञानिक डॉ. शांतनु रक्षित ने पशु उत्पादन, स्वास्थ्य व स्वच्छता, पोषण आदि विभिन्न पहलुओं की पशुपालक को जानकारी दी। पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. काशीनाथ ने बताया कि ऊंटों में तिबरसा रोग के बचाव के लिए टीकाकरण किया गया। कमजोर ऊंटों को पेट की दवा, बाह्य परजीवी चीचड़ से बचाव के लिए परजीवी नाशक दवा तथा मिनरल मिक्सचर वितरित किया गया।
ऊंटों के विकास एवं संरक्षण के लिए प्रयासरत

एनआरसीसी के निदेशक डॉ. आर्तबंधु साहू ने बताया कि केंद्र उष्ट्र विकास व संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध है। पत्रिका में प्रकाशित समाचार पर संज्ञान लेेकर तुरंत दल गांव में भेजा गया। बीमारी का पता लगाने के लिए ऊंटों की सेंपलिंग की गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पशुधन आधारित आजीविका को देखते हुए पशुओं के स्वास्थ्य से जुड़ी ऐसी आपात स्थिति को गंभीरता से लिया जाता है। केंद्र शिविर के माध्यम से ऊंटों के स्वास्थ्य व श्रेष्ठ प्रबंधन के साथ इसके दूध के औषधीय महत्व व पर्यटनीय संभावनाओं की ओर ध्यान आकर्षित किया जाता है। उरमूल सीमांत संस्था बज्जू के मोतीलाल भी जांच के दौरान उपिस्थत रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

'फ्री रेवड़ी ' कल्चर व स्कूल के मुद्दे पर संबित्र पात्रा ने AAP को घेरा, कहा- 701 स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं, 745 स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता विज्ञानPM मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने वाले दल से मुलाकात की, कहा- विजेताओं से मिलकर हो रहा गर्वप्रियंका के बाद अब सोनिया गांधी भी दोबारा हुईं कोरोना पॉजिटिव, तेजस्वी यादव ने कल ही की थी मुलाकातजम्मू कश्मीर में टेरर लिंक मामले में बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारी बर्खास्तFlag Code Of India: 'हर घर तिरंगा' अभियान शुरू, 15 अगस्त से पहले जानिए तिरंगा फहराने के नियम, अपमान पर होगी जेल3 PAK खिलाड़ी बन सकते हैं टीम इंडिया की गले की हड्डी, Asia Cup 2022 में रहना होगा अलर्टशहर को गाजर घास मुक्त करने निगम ने चलाया विशेष अभियान, कुछ ऐसे चलेगा Operation 7 खिलाड़ी जो भारत पाकिस्तान 2021 T20 वर्ल्डकप मैच का थे हिस्सा, लेकिन एशिया कप 2022 मैच में नहीं मिली जगह
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.