scriptNumber of blackbuck and wild jackal increased | काला हिरण व जंगली सियार की संख्या बढ़ी | Patrika News

काला हिरण व जंगली सियार की संख्या बढ़ी

वन्यजीवों की गणना : मचान बना गणना में जुटे वनकर्मी, 18 को आएंगे परिणाम

बीकानेर

Published: May 18, 2022 05:57:52 pm

अक्कासर. वन विभाग की टीम ने सोमवार सुबह आठ बजे वन्य जीवों की गणना शुरू की। वन रक्षक संजय कुमार ने बताया कि यह गणना सोमवार सुबह से मंगलवार सुबह आठ बजे तक की गई। गजनेर पैलेस झील पर उतरी व दक्षिण छोर पर दो पॉइंट बनाए गए हैं। इस पर एक-एक वन रक्षक व दो-दो वॉङ्क्षलटियर्स नियुक्त किए गए है।
काला हिरण व जंगली सियार की संख्या बढ़ी
काला हिरण व जंगली सियार की संख्या बढ़ी

गौरतलब है कि 24 घंटे में एक बार कोई वन्य जीव पानी पीने जरूर पहुंचता है। दूरबीन से वन्य जीवों की गणना की जा रही है। वर्ष 2019 में वन्य जीवों की गणना की गई थी। दो साल बाद इस बार गजनेर सेंचुरी में काले हिरण व जंगली सियार की बढ़ोतरी की संभावना बताई जा रही है।
गजनेर के अलावा बीकानेर की जोहड़ बीड़ व बीछवाल में बायोलॉजी पार्क में भी गणना की जा रही है। गणना के बाद इसकी रिपोर्ट बनाकर बीकानेर भेजी जाएगी। वन्य जीव गणना में गजनेर के वन रक्षक कपिल कुमार व वॉङ्क्षलटियर्स आमिर सोहेल, नितेश कुमार, नयाब हुसैन व श्रवण व्यास मौजूद रहे। बुद्धपुर्णिमा के चलते चांद की रोशनी में भी गणना की गई।

छतरगढ़. छतरगढ़ उपवन संरक्षक कार्यालय के अधीन क्षेत्र में सोमवार सुबह से शुरू वन्य जीवों की गणना आरम्भ हो चुकी है जो मंगलवार को दूसरे दिन भी जारी है। इस दौरान 40 वन्य जीवों की गणना की जा चुकी है। गणना के लिए वन विभाग के अधिकारी वाटर पॉइंट पर नजर रखे हैं। वन्य जीवों की गणना 24 घंटे तक मंगलवार सुबह आठ बजे तक हुई। वनविभाग की ओर से वनकर्मी संबंधित वॉटर पाइन्ट पर तैनात कर दिए। वन्यजीव गणना में वन्य प्रेमियों को भी शामिल किया गया है। वन्यजीव विशेषज्ञों का कहना है कि ज्येष्ठ की पूर्णिमा को वन्यजीव गणना इसलिए करवाई जाती है। इस रात को रोशनी अधिक रहती है। इसके वन्य क्षेत्र में मचान इस तरह से बनाए जाते हैं कि उनसे वन्यजीव डरे नहीं।

क्षेत्र में 39 पॉइंट
डीएफओ सुरेश कुमार आबूसरिया ने बताया कि छतरगढ़ के वन क्षेत्रों में वन्यजीव गणना के लिए 39 पॉइंट बनाए गए हैं। वाटर हॉल्स के पास बनाए गए। माना जाता है कि वन्यजीव 24 घंटे में एक बार पानी पीने जरूर आते हैं। छतरगढ़ उप वन संरक्षक कार्यालय तहत छतरगढ़ क्षेत्र सहित खाजूवाला अभयारण्य क्षेत्र तक वन्यजीव गणना के लिए पॉइंट बनाए गए हैं। छतरगढ़ से खाजूवाला तक विभिन्न जगहों पर 39 गणना पॉइंट बनाए गए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महा विकास अघाड़ी सरकार को बड़ा झटका, शिंदे खेमे में शामिल होंगे उद्धव के 8वें मंत्रीRanji Trophy Final: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, 41 बार की चैम्पियन मुंबई को 6 विकेट से हरा जीता पहला खिताबBypoll results 2022 LIVE: UP की आजमगढ़ सीट से निरहुआ की हुई जीत, दिल्ली में मिली जीत पर केजरीवाल गदगदअगरतला उपचुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेताओं पर हमला, राहुल गांधी बोले- BJP के गुड़ों को न्याय के कठघरे में खड़ा करना चाहिएSangrur By Election Result 2022: मजह 3 महीने में ही ढह गया भगवंत मान का किला, किन वजहों से मिली हार?सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद, फिर से सामने आया कनाडाई (पंजाबी) गिरोहMumbai News Live Updates: कलिना, सांताक्रूज में पार्टी कार्यकर्ताओं के कार्यक्रम में शामिल हुए आदित्य ठाकरेMaharashtra Political Crisis: केंद्र ने शिवसेना के बागी 15 विधायकों को दी Y प्लस कैटेगरी की सुरक्षा, शिंदे गुट ने डिप्टी स्पीकर के खिलाफ लिया ये फैसला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.