पीबीएम अस्पताल में देर रात महिला मरीज की मौत पर हंगामा

पीबीएम अस्पताल में देर रात महिला मरीज की मौत पर हंगामा

dinesh swami | Publish: Aug, 12 2018 10:56:08 AM (IST) Bikaner, Rajasthan, India

पीबीएम अस्पताल के डी वार्ड में एक महिला मरीज की उपचार के दौरान मौत हो गई। इस पर परिजनों ने चिकित्सकीय स्टाफ पर उपचार में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया।

बीकानेर. पीबीएम अस्पताल के डी वार्ड में शनिवार रात एक महिला मरीज की उपचार के दौरान मौत हो गई। इस पर परिजनों ने चिकित्सकीय स्टाफ पर उपचार में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। परिजनों का कहना था कि ऑक्सीजन नहीं मिलने से मरीज की जान चली गई। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। देर रात तक मरीज के परिजनों को समझाइश का प्रयास चलता रहा।

 

किशमीदेसर की कमला देवी (६५) पत्नी हनुमाना राम को ७ अगस्त को पीबीएम में भर्ती कराया गया। उसे ९ अगस्त को डी वार्ड में शिफ्ट किया गया। कमला के पुत्र माणक गहलोत ने आरोप लगाया कि शनिवार सुबह उसकी मां ऑक्सीजन दी जा रही थी। तभी सिलेण्डर खाली हो गया। चिकित्साकर्मियों को सूचित किया तो सिलेण्डर बदल दिया।

 

दोपहर में फिर सिलेण्डर खाली होने पर सिलेण्डर बदलवाया। सिलेण्डर से गैस लीक हो रही थी, जिससे वह जल्दी-जल्दी खाली हो रहा था। इसके बावजूद स्टाफ ने गंभीरता से नहीं लिया। रात करीब ८ बजे सिलेण्डर फिर खाली होने से मरीज को ऑक्सीजन मिलनी बंद हो गई। उन्होंने चिकित्सकों को सूचना दी, लेकिन सिलेण्डर नहीं बदला और कमला की मौत हो गई।

 

समझाइश के प्रयास
मरीज का उपचार डॉ. सुरेन्द्र सिंह राठौड़ की देखरेख में चल रहा था। घटना के समय मेडिकल कॉलेज के अतिरिक्त प्राचार्य डॉ. एलए गौरी, डॉ. परमेन्द्र सिरोही, डॉ. सुरेन्द्र सिंह, विक्की गहलोत भी अस्पताल पहुंच गए। उन्होंने मरीज के परिजनों से वार्ता की। देर रात तक मामले की जांच के लिए कमेटी गठित करने और वार्ड के ड्यूटी स्टाफ को हटाने का भरोसा दिलाकर परिजनों को शांत करने के प्रयास किए गए।

 

 

जीएसटी से भ्रष्टाचार पर प्रहार

बीकानेर. गंगाशहर सहित सेठ रावतमल बोथरा कन्या कॉलेज में शनिवार को छात्राओं की ओर से 'जीएसटीÓ पर सेमिनार का आयोजन किया गया। संस्थान के सचिव शांतिलाल बोथरा ने बताया कि सेमिनार में सीए सुधीश शर्मा ने कहा कि जीएसटी भारत में लागू होने से भ्रष्टाचार पर प्रहार हुआ है। जीएसटी का निर्धारण करने के लिए 40 सदस्यों की काउंसिल बनी हई है। कॉलेज प्राचार्य डॉ. सुनीता प्रभाकर ने विचार रखे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned