महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेलवे ने शुरू की योजना

महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेलवे ने शुरू की योजना

dinesh swami | Publish: May, 18 2018 08:16:11 AM (IST) Bikaner, Rajasthan, India

महिला सुरक्षा को लेकर रेलवे प्रबंधन विशेष इंतजाम में जुट गया है।

रमेश बिस्सा/बीकानेर. महिला सुरक्षा को लेकर रेलवे प्रबंधन विशेष इंतजाम में जुट गया है। रेलवे 'महिला सुरक्षा-बाल सुरक्षाÓ वर्ष मना रहा है। इसके तहत कई योजनाओं पर काम चल रहा है।


ट्रेनों में महिलाओं को किसी तरह की परेशानी नहीं हो। किसी तरह की अनहोनी नहीं हो इसके लिए रेलवे ने ट्रेन के महिला कोच में एक पैनिक बटन लगाने की योजना बनाई है।


इस बटन को दबाते ही महिलाओं को तत्काल मदद मुहैया कराई जाएगी। इसके अगले चरण में रेलवे स्टेशनों पर भी एेसे बटन लगाने की योजना है।
ट्रेनों में अकेले सफर करने वाली महिलाओं के साथ छेडख़ानी, अथवा अन्य परेशानियां कई बार होती है। इसे देखते हुए रेलवे प्रशासन सुरक्षा की दृष्टि से सख्त कदम उठाने जा रहा है। ताकि ट्रेनों में महिलाएं सुरक्षित सफर कर सके। पहले चरण में कुछ चुनिंदा रेलवे ट्रेनों में पैनिक बटन लगाने जा रहा है। इसके बाद देशभर की सभी ट्रेनों में यह व्यवस्था लागू होगी।

 


कोच का लगेगा पता
रेलवे सूत्रों अनुसार पैनिक बटन दबाते ही गार्ड को तुरंत
पता चल जाएगा कि ट्रेन के किस कोच में महिला परेशानी में है। गार्ड ट्रेन में मौजूद एस्कॉर्ट जवान और टीटीइ को वाकी-टाकी से सूचना दे देगा।

 

जवान तुरंत सभी
कोच में जाकर पता कर आवश्यक कार्रवाई करेंगे। फिलहाल इस योजना को लेकर मंथन चल रहा है।


यह भी सुविधा
रेल में सफर कर रहे यात्रियों के लिए कई तरह के हेल्प
लाइन है। इसमें मुख्य रूप से सुरक्षा बल ने '182Ó हेल्प लाइन नम्बर जारी कर रखें है। इस पर चलती ट्रेन में कॉल करने पर आरपीएफ की टीम मदद के लिए पहुंच जाती है। रेलवे सुरक्षा बल समय समय पर इस हेल्प लाइन के प्रति लोगों को जागरूक भी कर रही है।

 


सुरक्षा पर सक्रिय
&ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा प्राथमिकता है। रेलवे यात्रियों की सुरक्षा को लेकर पूरी तरह से सक्रिय है। रेलवे इस वर्ष को 'वूमन एंड चाइल्ड सेफ्टी इयरÓ मना रहा है। इसके तहत महिला यात्रियों की सुरक्षा को लेकर कई कदम उठाए जा रहे हैं।
अभय शर्मा, वरिष्ठ वाणिज्य मंडल प्रबंधक, बीकानेर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned