समय पर वेतन नहीं मिलने से खफा रोडवेज कर्मी

Anushree Joshi

Publish: Oct, 13 2017 12:25:07 (IST)

Bikaner, Rajasthan, India
समय पर वेतन नहीं मिलने से खफा रोडवेज कर्मी

प्रदर्शन के दौरान पदाधिकारियों ने रोष जताते हुए कहा कि समय पर वेतन नहीं मिलता।

रोडवेज कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं मिलने से रोष बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को राजस्थान रोडवेज के श्रमिक संगठनों का संयुक्त मोर्चा के तत्वावधान में केन्द्रीय बस स्टैण्ड पर प्रदर्शन कर रोष जताया गया। संगठन के पदाधिकारियों ने उच्च प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की।

 

प्रदर्शन के बाद राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक के नाम एक ज्ञापन भेजा गया। प्रदर्शन के दौरान पदाधिकारियों ने रोष जताते हुए कहा कि समय पर वेतन नहीं मिलता। सेवानिवृत्त कार्मिकों परिलाभों और पेंशन का भुगतान भी समय पर नहीं हो रहा है। अवैध बसों का संचालन अभी भी बेधड़क हो रहा है।

 

संगठन के लालचंद ने कहा कि सितंबर माह में हड़ताल का आह्वान किया था, लेकिन सरकार व उच्च प्रबंधन ने समझौते के समय ग्रेच्युटी, परिलाभों का भुगतान समय पर करवाने का आश्वासन दिया था, लेकिन सरकार ने वादा खिलाफी की है। गिरधारी लाल ने कहा कि राजस्थान लोक परिवहन सेवा की निजी बसों के संचालन के लिए रोडवेज के सभी स्टैण्डों से दो से पांच किलोमीटर दूर के स्थान निर्धारित किए जाने चाहिए।

 

यह हुए शामिल
प्रदर्शन में जाहिद हुसैन, ओम पुरोहित, धर्मपाल, रामस्वरूप बिश्नोई, जीवराजसिंह, किशन ङ्क्षसह, हरगोविन्द शर्मा सहित बड़ी संख्या में कर्मचारी शामिल हुए।

 

नियमितीकरण की मांग पर अद्र्धनग्न प्रदर्शन
सरकार की ओर से निरस्त की गई भर्ती प्रक्रिया को फिर से बहाल करने की मांग को लेकर एनआरएचएम प्रबंधकीय संविदा कर्मचारियों का धरना २४वें दिन भी जारी रहा। गुरुवार को एनआरएचएम कर्मचारियों ने कलक्ट्रेट में अद्र्धनग्न प्रदर्शन कर विरोध जताया। महासंघ के किशोर व्यास ने बताया कि एनआरएचएमकर्मी पिछले 2४ दिनों से सामूहिक हड़ताल पर होने के बावजूद राज्य सरकार व चिकित्सा विभाग अनदेखी कर रहा है।

 

मंत्रियों व अधिकारियों से मुलाकात करने पर राज्य सरकार से वार्ता का आश्वासन देकर टालमटोल किया जा रहा है। सरकार की हठधर्मिता से प्रदेशभर के एनआरएचएम कर्मियों में भारी रोष व्याप्त है। उन्होंने बताया कि जब तक सरकार हमारी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं करेगी जब तक यह आंदोलन जारी रहेगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned