रूट पर आय कम तो परिचालक पर गिरेगी गाज

घाटा बना चुनौती, प्रबंधन करेगा अनुशासनात्मक कार्रवाई

By: अनुश्री जोशी

Published: 18 Jan 2018, 08:57 AM IST

रोडवेज के लिए घाटा कम करना चुनौती बन गया है। इससे निपटने के लिए भरसक प्रयास भी किए जा रहे हैं, इसके बावजूद कई रूटों पर बसें डीजल का खर्च भी नहीं निकाल पा रही हैं। कई ऐसे रूट भी हैं, जहां आय कम हो रही है। रोडवेज प्रबंधन ने ऐसे रूटों पर चलने वाली बसों के परिचालकों के खिलाफ अनुशानात्मक कार्रवाई का निर्णय किया है। इस संबंध में रोडवेज प्रशासन ने बुधवार को परिचालाकों को हिदायत दी और अनुबंधित बस संचालकों से भी यात्रीभार बढ़ाने के लिए कहा है।

 

डीजल खर्च भी नहीं
बीकानेर आगार से खाजूवाला, कालू, पांचू, सयासर रूट पर चलने वाली बसें तो प्रति किलोमीटर पर डीजल व अन्य खर्च भी नहीं निकाल पा रही हैं। इसमें कालू रूट पर सुबह के समय चलने वाली बस महज 15.83 रुपए प्रति किलोमीटर की आय ही ला रही है। इसके अलावा पांचू रूट पर चलने वाली बस 16.83, सायसर पर 17.65, खाजूवाला में सुबह सात बजे चलने वाली बस 18.19 व दोपहर 12 बजे चलने वाली बस 17.67 रुपए की आय ही निकाल पा रही हैं।

 

यह है खर्चा
रोडवेज की बसों के संचालन पर प्रति किलोमीटर 17 रुपए 90 पैसे का खर्च आ रहा है। इसमें डीजल, टायर व टोल टैक्स का खर्च ही शामिल है। वेतन व अन्य खर्च अलग है। इस स्थित में रोडवेज घाटे के कई रूट तो पहले ही बंद कर चुका है।

 

परिचालकों को निर्देश
बीकानेर आगार के परिचालकों को हिदायत दी है कि कम आय आने पर उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इन दिनों जिन बसों की आय कम आ रही है, उसकी रोजाना रिपोर्ट तैयार की जा रही है। कई बसें तो वेरिएबल खर्च ही नहीं निकाल पा रही हैं।
रवि सोनी, आगार प्रबंधक

 

दस्तावेज जब्त कर जयपुर लौटी टीम
बीकानेर ञ्च पत्रिका. केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड की स्पेशल टीम बुधवार को जयपुर लौट गई। जयपुर मुख्यालय और बीकानेर कार्यालय के अधिकारियों की टीम ने मंगलवार को यहां सादुल कॉलोनी में एक केबल ऑपरेटर के यहां छापेमारी की कार्रवाई की थी।

 

विभाग के सहायक आयुक्त महेन्द्र ङ्क्षसह यादव ने बताया कि कार्रवाई के दूसरे दिन मौके से महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए हैं। इनके आधार पर अब आगे की कार्रवाई को अंजाम दिया जाएगा। यादव ने बताया कि सर्विस टैक्स चोरी की आशंका के बाद विभाग की स्पेशल टीम ने मंगलवार को बीकानेर और जयपुर सहित व्यापारी के अन्य ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की कार्रवाई की थी।

अनुश्री जोशी
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned