अकादमिक परिषद की बैठक: राजुवास एक्ट के नए परिनियमों को मंजूरी

वेटरनरी पाठ्यक्रमों में कौशल विकास शामिल

विभागाध्यक्षों, डीन-डायरेक्टर्स का कार्यकाल अधिकतम 3 साल करने का निर्णय

By: dinesh swami

Published: 18 Dec 2018, 12:18 PM IST

बीकानेर. राजस्थान पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान विश्वविद्यालय एक्ट-2010 के तहत बनाए गए परिनियमों को सोमवार को हुई शैक्षणिक परिषद् की बैठक में अनुमोदन कर दिया गया। बैठक में तीन कमेटियों के परामर्श से बनाए गए परिनियमों के हर बिन्दु पर चर्चा की गई। अब नए परिनियमों को प्रबंधन समिति में अनुमोदन के बाद राज्य सरकार को भिजवाया जाएगा। बैठक में कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा ने स्नातक, स्नातकोत्तर और वाचस्पति पाठ्यक्रमों को कौशल विकास से जोडऩे की आवश्यकता जताई। स्व-वित्तपोषी योजनाओं के साथ ही निर्धारित अनुसूची से अलग भी सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कार्यक्रमों चलाने को मूर्तरूप देने का आह्वान किया। विवि एक्ट-2010 के नए परिनियमों से विवि में सेवा और भर्ती, वित्तीय अधिकारियों की शक्तियों, विद्यार्थियों की शैक्षणिक गतिविधियों व बैठकों के संचालन आदि के रेग्यूलेशन का प्रभावी क्रियान्वयन किया जा सकेगा।

 

ये सदस्य हुए शामिल
बैठक में सदस्य के रूप में डॉ. रवीन्द्र शर्मा (हिसार), डॉ. रणजीत सिंह अतिरिक्त निदेशक (पशुपालन विभाग), उरमूल डेयरी के प्रतिनिधि मनोहरलाल जैन सहित राजुवास के फैकल्टी चेयरमैन प्रो. त्रिभुवन शर्मा, पीजीआईवीईआर, जयपुर की अधिष्ठाता प्रो. संजीता शर्मा, वेटरनरी कॉलेज, नवानियां, उदयपुर के अधिष्ठाता प्रो. राजेश कुमार धूडिय़ा ने शिरकत की। कुलसचिव प्रो. हेमन्त दाधीच, वित्त नियंत्रक अरविन्द बिश्नोई, डॉ. गोविन्द सिंह, प्रो. बीएन शृंगी
सहित राजुवास के डीन-डायरेक्टर्स और मनोनीत सदस्यों ने भी
भाग लिया।

 


शैक्षणिक परिषद ने ये निर्णय भी किए
-विवि के विभागाध्यक्षों, डीन-डायरेक्टर्स के कार्यकाल को अधिकतम तीन साल तक किए जाने का निर्णय किया।
-राजुवास के तीनों ही परिसरों में शिक्षकों के लिए 21 दिवसीय ऑरियन्टेशन प्रोग्राम शुरू किए होंगे।
-बैठक में स्नातक और वाचस्पति के विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए राजुवास के बीकानेर, जयपुर और नवानियां (वल्लभनगर) महाविद्यालयों में उपलब्ध सुविधाओं के मद्देनजर समान रूप से सीटों का वितरण करने को मंजूरी दी गई।
-शैक्षणिक परिषद् की पिछली बैठक की कार्यवाही का अनुमोदन।

dinesh swami Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned