एक बार फिर लड़कियों ने मारी बाजी, बारहवीं साइंस और कॉमर्स का रिजल्ट हुआ जारी

Rajasthan 12th board 2018 का परिणाम घोषित कर दिया।

By: dinesh swami

Published: 23 May 2018, 07:25 PM IST

अजमेर/बीकानेर . Rajasthan 12th board 2018 का परिणाम घोषित कर दिया। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने बुधवार शाम 6.15 बजे सीनियर सेकंडरी विज्ञान और वाणिज्य वर्ग का परिणाम घोषित कर दिया। सुबह से विद्यार्थियों को नतीजों का इंतजार था। शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने वेबसाइट पर नतीजा जारी किया। परिणाम घोषित करने के साथ पत्रिका डॉट कॉम और अन्य वेबसाइट पर विद्यार्थी अपने-अपने रोल नंबर सर्च करने शुरू हो गए।

 

 

शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने वेबसाइट पर सीनियर सेकंडरी विज्ञान और वाणिज्य वर्ग का परिणाम जारी किया। इस दौरान बोर्ड अध्यक्ष प्रो. बी. एल. चौधरी, सचिव मेघना चौधरी, विशेषाधिकारी प्रियंका भार्गव, वित्तीय सलाहकार आनंद आशुतोष और अन्य मौजूद थे।

 

 

नहीं जारी हुई मेरिट लिस्ट
बोर्ड ने साल 2017 की तरह साइंस और कॉमर्स की राज्य अथवा जिला स्तर की मेरिट लिस्ट जारी नहीं की। इसका फैसला पिछले साल ही प्रबंध बोर्ड की बैठक में हो गया था। इसके बजाय बोर्ड ने टॉप थ्री विद्यार्थियों के नाम घोषित करने का निर्णय लिया था। पिछले साल बारहवीं के कला, वाणिज्य और विज्ञान सहित दसवीं में टॉप रहे विद्यार्थियों को 24 मई को होने वाले दीक्षान्त समारोह में मेडल प्रदान किए जाएंगे।

 

 

पिछले साल यह था नतीजा
साल 2017 में बारहवीं विज्ञान वर्ग का परिणाम 90.36 और वाणिज्य वर्ग का 90.88 प्रतिशत रहा था। विज्ञान वर्ग में छात्राओं का परिणाम 93.30 और छात्रों का 89.21 प्रतिशत रहा था। इसी तरह वाणिज्य वर्ग में छात्राओं का परिणाम 95.27और छात्रों का 88.56 प्रतिशत रहा था। पिछले साल विज्ञान और वाणिज्य वर्ग में कुल 19 हजार 274 विद्यार्थी फेल हुए थे। दोनों में कुल 7 हजार 434 विद्यार्थियों को सप्लीमेंट्री के योग्य घोषित किया गया था। विज्ञान में 17 हजार 012 विद्यार्थी फेल हुए थे। जबकि कॉमर्स में 2 हजार 262 विद्यार्थी फेल हुए थे।

 

 

यूं रहे थे जिलों के परिणाम
बीते साल सीनियर सेकंडरी विज्ञान में नागौर जिला 94.10 प्रतिशत के साथ पूरे राज्य में प्रथम रहा था। जबकि शिक्षा राज्य मंत्री का गृह जिला अजमेर86.61 प्रतिशत के साथ प्रदेश में 32 वें स्थान पर था। इसी तरह वाणिज्य वर्ग में 95.38 प्रतिशत के साथ जैसलमेर जिला सबसे टॉप रहा। अजमेर जिला 90.27 प्रतिशत के साथ 19 वें स्थान पर रहा था। ऐसा तब हुआ जबकि राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का कार्यालय अजमेर में है। साथ ही अजमेर को राजस्थान का एज्यूकेशन हब कहा जाता रहा है।

Show More
dinesh swami Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned