वेतनमान की मांग पर कर्मचारियों ने दी गिरफ्तारी, प्रदर्शन कर जताया रोष

प्रदेशाध्यक्ष आयुदान सिंह कविया ने कहा कि वेतन वृद्धि नहीं लगाने पर किए गए बड़े आर्थिक हमले को राजस्थान का कर्मचारी बर्दाश्त नहीं करेगा।

By: अनुश्री जोशी

Published: 18 Aug 2017, 10:26 AM IST

अखिल राजस्थान राज्य संयुक्त कर्मचारी महासंघ के प्रांतीय आह्वान पर गुरुवार को कर्मचारियों ने सत्याग्रह आंदोलन के तहत गिरफ्तारियां दी। प्रदेशाध्यक्ष के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। सातवें वेतनमान की मांग को लेकर कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। कर्मचारी मैदान में हुई सभा में वक्ताओं ने सरकार की नीतियों को कर्मचारी विरोधी बताया। प्रदेशाध्यक्ष आयुदान सिंह कविया ने कहा कि राजस्थान सिविल सेवा नियम 2008 की अनुसूची पांच में संशोधन के नाम पर जुलाई 2017 में 1750 से 2800 रुपए एवं 4800 ग्रेड-पे कटौती व वेतन वृद्धि नहीं लगाने पर किए गए बड़े आर्थिक हमले को राजस्थान का कर्मचारी बर्दाश्त नहीं करेगा।

 

राज्य सरकार का यह आदेश प्रदेश के डेढ लाख कर्मचारियों के हितों पर सीधा कुठाराघात है। संयुक्त कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष जयकिशन पारीक ने कहा कि सातवें वेतन आयोग की अभिशंषा प्रदेश के कर्मचारियों पर लागू करवाने की मांग को लेकर पिछले एक साल से महासंघ आंदोलनरत है। केन्द्र सरकार ने जनवरी 2016 से सातवें वेतनमान का लाभ अपने कर्मचारियों को दे दिया है जबकि राज्य सरकार सावंत कमेटी का गठन करके बार-बार उसका कार्यकाल बढ़ाकर प्रदेश के कर्मचारियों को गुमराह कर रही है।

 

महासंघ के जिला महामंत्री पृथ्वीराज लेघा ने कहा कि राज्य की सरकार कर्मचारियों की सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें प्रदेश में लागू करने के विपरीत राजस्थान के कर्मचारियों के मासिक वेतनमान कम करने जा रही है। सहायक कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष मदन सिंह राठौड ने पदोन्नति पद के परिलाभ देने की वकालत करते हुए पांचवें व छठे वेतन आयोग की वेतन विसंगतियों के निराकरण की मांग की। शिक्षक संघ (प्रगतिशील) के महामंत्री पूनमचन्द बिश्नोई ने ग्रेड-पे कटौती को राज्य सरकार का तानाशाही पूर्ण निर्णय बताया।

 


इन्होंने भी रखे विचार
शिक्षक संघ (शेखावत) के प्रदेश मंत्री श्रवण पुरोहित, मंत्रालयिक कर्मचारी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष कृष्ण मुरारी शर्मा, प्रांतीय उपाध्यक्ष अविनाश व्यास, मंत्रालयिक कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष सुरेश व्यास, आयुर्वेद नर्सेज के रावताराम डूडी, शिक्षक संघ (शेखावत) के संजय पुरोहित, रेवंतराम गोदारा, शिक्षक संघ (प्रगतिशील) के आनन्द पारीक, गुरचरणसिंह मान, गोविन्द भार्गव, ग्राम सेवक संघ के बनवारीलाल गुर्जर, एटक के प्रसन्न कुमार, कर्मचारी नेता बनवारी शर्मा, रमेश तिवाड़ी, सत्यनारायण पंवार, विरेन्द्र व्यास, सहायक कर्मचारी संघ के देवराज जोशी ने भी विचार रखे।

 


मंत्रालयिक कर्मियों का आंदोलन जारी
मंत्रालयिक कर्मचारियों का आंदोलन गुरुवार को दसवें दिन भी जारी रहा। शिक्षा विभाग के सेवानिवृत कर्मचारी घनश्याम गहलोत की अध्यक्षता में हुई सभा में कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष आयुदान सिंह ने समर्थन करते हुए कहा कि राजस्थान के सभी महासंघों को मंत्रालयिक कर्मचारियों के आंदोलन का समर्थन करना होगा। महासंघ लोकतांत्रिक के बनवारी लाल शर्मा और धूमल भाटी ने भी सभा को सम्बोधित करते हुए अपने महासंघ का समर्थन व्यक्त किया।

 

अभिलेखागार से रमेश तिवारी, पंकज त्यागी,अमित बोयल, कैलाश श्रीमाली के नेतृत्व में उनके विभागों के कर्मचारी अपने कार्यालयों से रैली के रूप में नारेबाजी करते हुए सभास्थल पर पहुंचे। जिलाध्यक्ष सुरेश व्यास ने बताया कि 18 अगस्त को दोपहर 1 बजे रैली के रूप में कलक्टर कार्यालय परिसर की परिक्रमा की जाएगी और ज्ञापन देंगे।

अनुश्री जोशी
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned