ब्रेकिंग : स्कूल बस पलटी, 18 बच्चे घायल

Anushree Joshi

Publish: Nov, 15 2017 12:13:57 (IST)

Bikaner, Rajasthan, India
ब्रेकिंग : स्कूल बस पलटी, 18 बच्चे घायल

स्कूल बस पलटने से 18 बच्चे घायल हो गए। धूंध के चलते बस ड्राइवर गाय को बचाने के लिए रोका।

सर्दी बढऩे के साथ ही सड़क दुर्घटनाओं का सिलसिला शुरू हो गया। बीकानेर से करीब 21 किलोमीटर दूर पलाना के पास एक स्कूल बस पलटने से 18 बच्चे घायल हो गए। धूंध के चलते बस ड्राइवर गाय को बचाने के लिए रोका। जिससे यह बस पलट गई।

 

जानकारों के अनुसार यह बच्चे मदर्स एकेडमी स्कूल के बताए जा रहे है। इस बस में करीब 30 बच्चे थे जिनमें 18 बच्चे घायल हुए है। इसके बाद ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। घायल बच्चों को पीबीएम अस्पताल में लाया गया। जहां पर चिकित्सकों द्वारा बच्चों का इलाज किया जा रहा है। इनमें कोई भी बच्चा गंभीर स्थिति में नहीं है।

 

मंडी क्षेत्र की जर्जर सड़क पर आवागमन मुश्किल
बिना आवागमन के ही बज्जू-रणजीतपुरा सड़क क्षतिग्रस्त हो गई है। यहां कृषि उपज मंडी में आवंटन व अन्य समस्याओं से विकास आगे बढ नहीं पा रहा है। इससे व्यापारी यहां पर स्थापित नही हो पा रहे हैं। जिनको भूमि का आवंटन हुआ है उन्हें पट्टा नही मिला है।

 

करीब 5 से 7 वर्ष पहले प्रशासन द्वारा मंडी विकास के लिए पहले सड़क बनाना उचित समझा और ठेकेदार द्वारा सड़क निर्माण का ठेका मिलते ही सूनी विकास समिति मंडी में सड़क निर्माण करवाना शुरू करवा दिया और सड़क का स्तर इतना घटिया था कि सड़क निर्माण के कुछ समय में ही सड़क से डामर गायब होना शुरू हो गया और अब सड़क से कंकड़ भी निकलकर बाहर आ गए। मंडी समिति में दुकान लेने वाले लोगों ने बताया कि सड़क निर्माण को भी ठेकेदार द्वारा अधूरा छोड़ दिया गया है।

 


बज्जू. रणजीतपुरा गांव से राष्ट्रीय राजमार्ग 15 के सांखला फांटा तक कहने को सड़क स्टेट हाइवे है लेकिन करीब एक दशक से यह सड़क ग्रेवल में तब्दील है व सड़क जगह-जगह से उखड़ी है। आमजन के विरोध को देखते इस स्टेट हाइवे पर पैचवर्क का काम शुरू हुआ किया गया है लेकिन वह भी आधा अधूरा किया जा रहा है तथा गड्ढों को छोड़ दिया है। इन दिनों राजमार्ग 15 के सांखला फांटा से बज्जू होकर गोडू की तररफ कई जगह पर पैचवर्क किया जा रहा है।

 

पैचवर्क कार्य का देखकर ग्रामीणों ने बताया कि मोडायत गांव में ठेकेदार ने गोडू की ओर सड़क पर गड्ढ़ो को भरने के लिए सफेद रंग से चिन्हित किया और कंकर भी डाल दिए लेकिन अब गड्ढों को छोड़ दिया है। यहां बड़े-बड़े गड्ढ़ों को पत्थर से भरने के बाद भी पैचवर्क नही किया जा रहा है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned