घरेलू पर शिकंजा, सरकारी विभागों को मात्र चेतावनी

विद्युत निगम का बकाया वसूली अभियान: विभिन्न विभागों में बिजली बिल के करीब 6.70 करोड़ बकाया
पीएचईडी पर सर्वाधिक 5.74 करोड़ बाकी
प्रशासनिक विभागों ने भी नहीं भरे बिल,35.55 लाख बकाया

बीकानेर. नोखा. सरकारी महकमों पर विद्युत निगम कितना मेहरबान है, इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि करीब 6.70 करोड़ रुपए के बिजली बिल बकाया होने के बाद भी कार्रवाई केवल चेतावनी तक सीमित है। जबकि छोटे बकायादारों पर लगातार कनेक्शन काटने की कार्रवाई की जा रही है।

विद्युत निगम के नोखा शहर में करीब 5 करोड़ 74 लाख रुपए बकाया है। इनमें सरकारी विभागों पर लगातार बिल बढ़ता जा रहा है लेकिन विभागों पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। पथ प्रकाश और जलप्रदाय व्यवस्था को छोड़ भी दें, तो अन्य विभाग ऐसे हैं, जिन पर करीब 95 लाख रुपए से अधिक का बकाया है।

विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बकाया बिल भरने के लिए बार-बार कहा जाता है, लेकिन बकाया जमा नहीं कराया जा रहा है। इससे बकाया राशि कम होने की बजाय बढ़ती जा रही है। वसूली अभियान शुरू होने के बाद भी वसूली की राशि में ज्यादा अंतर नहीं आ रहा है।

पुराने बकायादार रुपए जमा करा रहे हैं तो नए बकायादारों की बकाया बढ़ रही है। इसके लिए विभाग ने वसूली दल तैयार किए हैं जो शहर और गांव में घूमकर बकाया ना चुकाने पर कनेक्शन काटने का काम कर रहे हैं। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बिजली कनेक्शन काटने के लिए पहले सूचना दी जाती है, फिर भी बिल न भरने पर कनेक्शन काटने की कार्रवाई की जाती है। यह अभियान जारी रहेगा।


5 हजार बकाया पर काट देते कनेक्शन
बिजली विभाग बड़े बकायादारों को ढील देकर छोटे बिजली बिल बकायादारों पर सख्ती दिखा रहा है। पांच हजार रुपए बकाया होने के बाद कनेक्शन काटे जा रहे हैं, जबकि सरकारी विभागों पर लाखों रुपए बाकी हैं। शहर और गांवों में वसूली के लिए विभाग कीटीमें घूम रही हैं। घरेलू व कृषि कुओं कनेक्शन के बकायादारों पर लगातार कार्रवाई कर रही है।


कार्रवाई से असंतोष
बिकायादारों के कनेक्शन काटने की कार्रवाई को लेकर लोगों में असंतोष भी नजर आ रहा है। कुछ का कहना है कि एक-दो बिल बकाया होते ही, कनेक्शन काटने पहुंच जाते हैं। जबकि बड़े बकायादारों पर कार्रवाई करने की कोई हिम्मत नहीं दिखाता है।

जल्द ही कार्रवाई की जाएगी
&सरकारी विभागों को बिल भरने के लिए लगातार सूचना देते हैं तथा उनसे कई बार पत्राचार किया गया है। इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को भी भेजी गई है। हाल ही जोधपुर में हुई सब डिवीजन की बैठक में एडीशनल चीफ इंजीनियर हवासिंह चौधरी ने सरकारी विभागों पर बकाया वसूली के लिए डिटेल बनाकर जिला प्रशासन के पास भेजने के निर्देश दिए हैं। उनके विरूद्ध जल्द ही कार्रवाई भी की जाएगी।
कौशलेंद्र चौधरी, एईएन सिटी नोखा।

Show More
harisingh gurjar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned