माध्यमिक शिक्षा निदेशालय: काउंसलिंग में रिक्त पदों की सूचियां फिर छिपाई

पद स्थापन प्रतीक्षा वाले व्याख्याताओं ने जताया रोष

By: dinesh swami

Published: 07 Jun 2018, 10:38 AM IST

बीकानेर.माध्यमिक शिक्षा निदेशालय में बुधवार को व्याख्याताओं की काउंसलिंग में रिक्त पदों की सूचियां व्याख्याताओं को नहीं दिखाई गई। इससे शिक्षक भड़क गए। उन्होंने काउंसलिंग में पारदर्शिता नहीं होने की शिकायत शिक्षा निदेशक एवं संयुक्त निदेशक (कार्मिक) नूतन बाला कपिला से की। शिक्षकों ने काउंसलिंग के दौरान रिक्तियां नहीं दिखाने पर विरोध जताया। शिक्षकों ने कहा कि रिक्त पदों की सूची में पारदर्शिता नहीं बरती जा रही है तो काउंसलिंग का औचित्य ही नहीं है। इससे तो राज्य सरकार सीधा स्थानान्तरण आदेश जारी कर देती।

 

काउंसलिंग से नियुक्ति देने पर शिक्षक नियुक्ति को लेकर अदालत में नहीं जा सकता। यात्रा भत्ता और दैनिक भत्ता भी नहीं मांग सकता। सूचियां छिपाने का कारण यह बताया जा रहा है कि काउंसलिंग के दौरान ही स्थानान्तरण आदेश भी जारी किए जा रहे हैं। राज्य सरकार की ओर से इसी दौरान स्थानान्तरण आदेश दिए जाने से रिक्त पदों की सूची छिपानी पड़ रही है। सभी व्याख्याता पदस्थापन की प्रतीक्षा में हैं और वे काउंसलिंग के लिए आए हैं। इनको नियुक्ति के लिए रिक्त पदों का विकल्प नहीं दिया जा रहा है।

 

नहीं दिखा रहे रिक्तियां
काउंसलिंग के प्रावधान के अनुसार शिक्षकों को रिक्त पदों की सूची नहीं दिखा रहे हैं। जूनियर-सीनियर का कोई मतलब ही नहीं रह गया है। काउंसलिंग में पारदर्शिता नहीं है।
डॉ. निशा पारीक, व्याख्याता

 

एपीओ को रिक्त पदों पर लगा रहे
हर कोई इच्छित स्थान पर लगना चाहता है। यह कैसे संभव है। रिक्त पद बता रहे हैं, नहीं बताने जैसी कोई बात नहीं है।
नूतन बाला कपिला, संयुक्त निदेशक (कार्मिक), मा.शि. निदेशालय बीकानेर

 


मनरेगा कर्मियों का धरना ३८वें दिन भी जारी

बीकानेर. महात्मा गांधी नरेगा कार्मिक संघ एवं पंचायतीराज मंत्रालयिक कर्मचारी संघ का धरना बुधवार को ३८वें दिन भी जारी रहा। संयुक्त संघर्ष समिति के सुनील जोशी ने बताया कि कर्मचारियों व जनप्रतिनिधियों ने महात्मा गांधी नरेगा भर्ती-२०१३ के संबंध में सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय की पालना करवाने के लिए बार काउंसिल को निर्णय की प्रतिलिपि सौंप कर समर्थन मांगा।

 

अध्यक्ष अजीत सिंह भाटी ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय की पालना न करना न्याय पर अन्याय है। धरना स्थल पर रियाज पंवार, नरपत सिंह, गोविंद सिंह भाटी, अजीत सिंह, सुनील कुमार, हिमांशु मेहता, विमल श्रीमाली, लक्ष्मणराम, राजाराम, मोनू तंवर, राम कुमार, हवा सिंह, मदनलाल सियाग, रामनिवास बिश्नोई, सुनील जोशी, शैलेन्द्र सिंह, रणजीत वर्मा, कृष्ण मोहन रंगा, गोपाल जोशी, आनंद सिंह राजपुरोहित आदि उपस्थित थे।

Show More
dinesh swami Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned