सात दिन, 10.72 लाख की लूट, आरोपी पकड़ से दूर

नयाशहर थाना क्षेत्र की घटना

By: Jaiprakash

Updated: 10 Jan 2021, 02:34 AM IST

बीकानेर। राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक से १०.७२ लाख की लूट की वारदात के सात दिन बाद भी आरोपी पुलिस के हाथ नहीं लगे हैं। सात टीमें, २९ पुलिस अधिकारी-कर्मचारी आरोपियों की धरपकड़ में लगे हैं। पुलिस अब तक ३० से संदिग्धों से पूछताछ कर चुकी हैं। शनिवार को पुलिस अधीक्षक प्रीति चन्द्रा ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने सीओ सिटी सुभाष शर्मा एवं नयाशहर सीआई गोविंद सिंह चारण से प्रगति रिपोर्ट ली।


पुलिस अधीक्षक चन्द्रा ने बताया कि पुलिस की सात टीमें बैंक लूट की वारदात के आरोपियों की पहचान करने में जुटी है। पुलिस को अहम सुराग मिले हैं। बैंक लूट का खुलासा शीघ्र करेंगे। गौरतलब है कि सोमवार की शाम को नकाबपोश दो बदमाश हथियारों के साथ मुक्ताप्रसाद कॉलोनी स्थित राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक में घुसे। बदमाश यहां से १० लाख ७२ हजार ८३७ रुपए लूट ले गए। बदमाशों ने बैंक मैनेजर को गोली मार कर घायल कर दिया। गनीमत रही कि गोली मैनेजर के सिर को छुकर निकल गई। मैनेजर पीबीएम के ट्रोमा सेंटर में भर्ती है।

पूरे घटनाक्रम को विस्तार से बताया

सीओ सिटी सुभाष शर्मा व उनकी टीम पुलिस अधीक्षक के साथ मुक्ताप्रसाद कॉलोनी स्थित राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक पहुंची। यहां सीओ सिटी शर्मा ने पुलिस अधीक्षक को लूट के घटनाक्रम को ग्राफिस व दृश्य कर समझाया। लूटेरे बैंक में कहां से और कैसे घुसे। कर्मचारियों को धमकाने, फायरिंग करने और तिजोरी से रुपए निकालने के साथ-साथ मैनेजर को गोली मारने तक के दृश्य समझाए। बाद में पुलिस अधीक्षक सीओ सिटी शर्मा को वारदात को लेकर विशेष दिशा-निर्देश दिए।

पुरानी वारदातों की भी ली जानकारी
पुलिस अधीक्षक चन्द्रा ने चार महीने पहले रेलवे वर्कशॉप के पास स्थित डाकघर में बदमाशों द्वारा दिन-दहाड़े की गई वारदात की जानकारी ली। डाकघर लूट की वारदात को लेकर जांच अधिकारी भी सख्त निर्देश दिए। इस अवसर पर कई पुलिस अधिकारी भी उपस्थित थे।

Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned