जय जय शनिदेव भक्तन हितकारी...

शनि जयंती - मंदिरों में हुए तेलाभिषेक-पूजन, व्रत-उपासना कर किए दान

By: Vimal

Published: 11 Jun 2021, 12:16 PM IST

बीकानेर. धर्म और न्याय के प्रतीक शनिदेव की जयंती गुरुवार को तेलाभिषेक और पूजा-अर्चना के साथ मनाई गई। भगवान शनिदेव का तिल के तेल से अभिषेक किया गया और शनि के दोषो से मुक्ति और कृपा प्राप्त करने के लिए विभिन्न वस्तुओं का दान किया गया। कोरोना महामारी के कारण शहर में विभिन्न स्थानों पर स्थित शनि मंदिरों में पुजारी परिवार की ओर से अभिषेक और पूजा-अर्चना की गई। सार्वजनिक कार्यक्रमों के आयोजन नहीं हुए।

श्रद्धालु लोगों ने कोरोना के कारण अपने घरों में ही भगवान शनिदेव की पूजा-अर्चना, व्रत-उपासना कर शनि स्त्रोत पाठ और वैदिक मंत्रों का जाप किया। जरुरतमंद लोगों को भोजन करवाया। शनि जयंती पर लोगों ने भगवान शिव का अभिषेक किया और भगवान हनुमान की भी पूजा-अर्चना की। पीपल के वृक्ष के समक्ष तिल के तेल का दीप प्रज्जवलित किया। शनि जयंती पर काला वस्त्र, काला तिल, लोहे का पात्र, काला उड़द, गुलाब जामुन, काला कंबल का दान किया। निशक्तजन और जरुरतमंद लोगों को भोजन करवाया गया। पशु-पक्षियों के लिए पानी, हरा चारा और दाना की व्यवस्था की गई।

 

कोरोना महामारी से मुक्ति की कामना
शनि जयंती पर शहर में पब्लिक पार्क, शीतला गेट, पवनपुरी रोड, कोतवाली क्षेत्र डाकोत मोहल्ला, बी के स्कूल के पीछे, नया शहर थाने के पास, चौंखूटी रोड, पुरानी गजनेर रोड, मोहता सराय सहित विभिन्न स्थानों पर स्थित मंदिरों में भगवान शनिदेव का तेलाभिषेक कर श्रृंगार, पूजन और महाआरती की गई। पुजारी परिवार की ओर से कोविड एडवाईजरी की पालना के तहत पूजा-अर्चना की गई। भगवान शनिदेव से कोरोना महामारी से मानव समाज को मुक्ति दिलवाने की कामना की गई।

Show More
Vimal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned