तर्पण-हवन के साथ होगी श्राद्ध पक्ष की पूर्णाहुति

सर्व पितृ अमावस्या आज - पितरों के निमित्त होंगे दान-पुण्य, मातामह श्राद्ध कल

 

By: Vimal

Published: 06 Oct 2021, 07:33 PM IST

बीकानेर. पिछले एक पखवाड़े से चल रहे श्राद्ध पक्ष की पूर्णाहुति बुधवार को होगी। श्राद्ध के पहले दिन से चल रहे पितर तर्पण की पूर्णाहुति पर सर्व पितर तर्पण होगा। तालाब में वेदपाठी ब्राह्मणों के सानिध्य में सर्व पितर तर्पण कर्म के आयोजन होंगे। तर्पण कर्म की पूर्णाहुति पर हवन में आहुतियां दी जाएगी। ज्योतिषाचार्य पंडित राजेन्द्र किराडू के अनुसार पितर तर्पण की पूर्णाहुति पर विशेष तर्पण होगा। मंत्रोच्चार के बीच हवन में आहुतियां दी जाएगी। पंडित किराडू के अनुसार श्राद्ध पक्ष में सर्व पितृ अमावस्या का विशेष महत्व बतलाया गया है। इस दिन पितरों के निमित्त दान-पुण्य का विशेष महत्व है। अन्न और वस्त्र दान किया जाता है। सर्व पितृ अमावस्या के दिन उन दिवंगत लोगों का भी श्राद्ध किया जाता है, जिनके निधन की तिथि ज्ञात नहीं है। मातामह श्राद्ध (नाना श्राद्ध) गुरुवार को होगा।

 

तालाब में तर्पण, मंदिर में अभिषेक

श्राद्ध पक्ष की पूर्णाहुति पर एक पखवाडे़ से धरणीधर तालाब में चल रहे तर्पण कर्म की पूर्णाहुति होगी। पंडित गोपाल ओझा के सानिध्य में चल रहे पितर तर्पण अनुष्ठान के अंतिम दिन सर्व पितर तर्पण किया जाएगा। सुबह 4.30 बजे धरणीधर महादेव मंदिर में 51 किलोग्राम दूध से महादेव का अभिषेक, पूजन कर आरती की जाएगी। पंडित ओझा के सानिध्य में सुबह 6.30 बजे से धरणीधर तालाब में होने वाले सर्व पितर तर्पण में हेमाद्रि संकल्प, दस विधि स्नान और तर्पण होगा। महानंद महादेव मंदिर में सुबह 10 बजे से 1 बजे तक विष्णु पूजन, पंचामृत अभिषेक व हवन का आयोजन होगा। मंगलवार को धरणीधर तालाब पर शहीदों के नाम तर्पण दिया गया।

Vimal Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned