सत्यापन के अभाव में अटकी 16 हजार लोगों की पेंशन

सत्यापन के अभाव में अटकी 16 हजार लोगों की पेंशन
Stopping pension in Bikaner

Hari Singh | Publish: Jun, 20 2019 07:59:42 PM (IST) Bikaner, Bikaner, Rajasthan, India

कई माह से पंचायत समिति में सत्यापन के आवेदन पूर्ण कर दे चुके हैं लेकिन अनदेखी के कारण लोग भटकने को मजबूर

बीकानेर श्रीडूंगरगढ़. सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत मिल रही पेंशन सत्यापन के अभाव में मई से उपखण्ड के सोलह हजार लोगों की पेंशन अटक गई है। ग्रामीण क्षेत्र के करीब तीन सौ लोग कई माह से पंचायत समिति में सत्यापन के आवेदन पूर्ण कर दे चुके हैं लेकिन अनदेखी के कारण लोग भटकने को मजबूर हैं। हालांकि बंद पेंशन का सत्यापन ई मित्र व कियोस्ककेंद्र पर भी करवाने का प्रावधान है लेकिन जानकारी के अभाव में लोग पंचायत समिति में कागजी कार्रवाई कर रहे हैं।

 

जानकारी के अनुसार किसी भी पेंशन धारक की पेंशन सत्यापन के लिए बंद हो जाती है तो उसे जीवित होने का प्रमाण देना होता है। पेंशन धारक को जीवित होने का सत्यापन सरपंच या ग्राम सेवक से करवाना होता है लेकिन पंचायत समिति में पटवारी से भी उनकी जमीन का सत्यापन करवाया जा रहा है।

 

जिनकी जमीन दो हेक्टेयर से अधिक है। उन पेंशन धारकों का विकास अधिकारी सत्यापन नहीं कर रहे हैं और न ही उचित जानकारी दी जा रही है। ऐसे हालात में बुजुर्गों को सरकार से मिलने वाली सहयोग राशि से वंचित होना पड़ रहा है।


प्रशासन मौन

उपखण्ड में उपकोष कार्यालय के माध्यम से 24 हजार 5०6 लोगों को बैंक, पोस्टऑफिस व मनीऑर्डर के जरिए ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में सामाजिक न्याय व सुरक्षा के तहत पेंशन दी जाती है। मई में सत्यापन के अभाव में उपकोष कार्यालय से 8 हजार 262 लोगों को ही भुगतान हुआ है। ऐसे में 16 हजार से अधिक लोग इस योजना से वंचित हो गए हैं।

 

सत्यापन के लिए किसी भी विभाग ने पेंशन धारकों को सूचित नहीं किया है। पेंशन धारक अपनी पेंशन नहीं मिलने पर बैंक व सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगा रहे हैं, वहीं अधिकांश लोग पेंशन आने का इंतजार कर रहे हैं।


अधिकृत अधिकारी

ग्रामीण क्षेत्र में सत्यापन के लिए विकास अधिकारी व शहरी क्षेत्र के लिए उपखण्ड अधिकारी अधिकृत है लेकिन बुजुर्गों को मिलने वाली सुविधा पर किसी का ध्यान नहीं गया है। सत्यापन के लिए पंचायत स्तर पर भी कोई जानकारी नहीं दी गई है। इसके चलते बड़ी तादाद में लोग सरकार से मिलने वाली तुच्छ राशि के भी मोहताज हो रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned