scriptStretcher and bedsheet not given after operation | ऑपरेशन के बाद नहीं दी स्ट्रेचर व बेडशीट | Patrika News

ऑपरेशन के बाद नहीं दी स्ट्रेचर व बेडशीट

शिविर में रहा अव्यवस्था का आलम: नसबंदी कराने आई महिलाएं अस्पताल गैलरी में नीचे फर्श पर बैठी आईं नजर, भीषण गर्मी में कूलर, पानी तक की नहीं व्यवस्था

बीकानेर

Published: April 30, 2022 06:22:26 pm

नोखा. परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत नसबंदी शिविरों में अमानवीयता की हदें पार की जा रही हैं। इसकी हकीकत की बानगी शुक्रवार को मांगीलाल बागड़ी राजकीय अस्पताल में देखने को मिली। यहां लगे नसबंदी शिविर में अव्यवस्था का आलम नजर आया। भीषण गर्मी में शिविर में पानी, कूलर तक की व्यवस्था नहीं की गई।
ऑपरेशन के बाद नहीं दी स्ट्रेचर व  बेडशीट
ऑपरेशन के बाद नहीं दी स्ट्रेचर व बेडशीट
नसबंदी कराने आई महिलाएं व परिजन अस्पताल की गैलेरी में नीचे फर्श पर बैठे नजर आए। उनके लिए दरी बिछाना तक उचित नहीं समझा गया। गर्मी से परेशान मासूम बच्चों को रो-रोकर बुरा हाल हो रहा था। कुछ बच्चों को नीचे फर्श पर ही सुलाया था। नसबंदी ऑपरेशन करने के बाद महिलाओं को ले जाने के लिए स्ट्रेक्चर तक नहीं थी, उनको अद्र्धचेतन अवस्था में ही व्हीलचेयर पर बैठाकर वार्ड में शिफ्ट किया जा रहा था। वार्ड में बेड पर बिना बैडशीट के ही लिटाया जा रहा था।

अव्यवस्था पर रोष
अव्यवस्था को देखकर महिलाओं सहित परिजनों में रोष देखा गया। उनका कहना था कि भीषण गर्मी में नसबंदी ऑपरेशन कराने के लिए दूर गांवों से आए हैं। यहां पर ना पीने को पानी है और ना ही कोई कूलर-पंखा है। बैठने के लिए फर्श पर दरी तक नहीं है। इतनी गर्मी में किसी महिला की तबीयत बिगड़ जाती है, तो जिम्मेदार कौन होगा?

पर्याप्त मिलता है बजट
जानकारी के मुताबिक सरकार परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत नसबंदी शिविरों के आयोजन को लेकर जरूरी सुविधाएं व व्यवस्थाएं जुटाने के लिए पर्याप्त बजट देती है। इसके बावजूद जिम्मेदार इन शिविरों में कोई भी इंतजाम नहीं कर रहे हैं। शिविर में दूर-दराज के गांवों से सुबह जल्दी आकर बैठने वाली महिलाओं के नसबंदी ऑपरेशन दोपहर बाद शुरू किए जा रहे हैं। शिविर में नसबंदी ऑपरेशन एक फाउंडेशन टीम द्वारा किए जा रहे हैं।

लापरवाही मिली तो करेंगे कार्रवाई
&महिला नसबंदी ऑपरेशन का काम दो स्वयंसेवी संस्था को दे रखा है। शिविर में सभी व्यवस्थाएं उनको ही करनी होती है। इसकी मॉनिटङ्क्षरग के लिए बीसीएमओ व अस्पताल प्रभारी को निर्देश दिए हैं। नोखा के नसबंदी शिविर में किसी तरह की अव्यवस्थाएं हुई है। संबंधित अधिकारियों से बात भी करूंगा, लापरवाही बरती गई है, तो नोटिस जारी कर कार्रवाई की जाएगी।
डॉ योगेंद्र तनेजा, उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, परिवार कल्याण

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

कर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मभाजपा प्रदेश अध्यक्ष का हेमंत सरकार पर बड़ा हमला, कहा - 'जब तक सत्ता से बाहर नहीं करेंगे, तब तक चैन से नहीं सोएंगे'Largest Vaccination Drive: भारत में 88% वयस्क आबादी को लग चुकी हैं COVID टीके की दोनों डोजIPL 2022: सिर्फ चौके और छक्के से बटलर ने ठोके करीब 600 रन, विराट कोहली को भी छोड़ा पीछेVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्म
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.