ऊंटनी मालिक के पीछे दौड़ी, जबड़े से सिर को पकड़ कर जमीन पर पटका

केशरदेसर गांव की घटना

बीकानेर/नापासर। जिले में बुधवार को एक ऊंटनी ने अपने मालिक की जान ले ली। ऊंटनी ने मालिक के पीछे दौड़ी और उसका सिर पकड़ कर जमीन पर पटक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। जिले में ऊंटों ने एक महीने में ही तीन जनों को मौत के घाट उतार दिया है। इस बार हादसा देशनोक थाना क्षेत्र के केशरदेसर जाटान गांव की रोही में हुआ है।

हादसे की सूचना मिलने पर देररात को पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर स्थानीय चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया है। देशनोक एसएचओ अनोपसिंह ने बताया कि कल्याणसर निवासी जीतू नाथ (४८) पुत्र नंदानाथ का केशरदेसर स्थित हड़मान के खेत में काम करने गया था। बुधवार शाम को वापस घर आने के लिए वह ऊंट को गाड़े में जोतने (जोडऩे) गया था। तभी ऊंटनी गुस्सा हो गई। ऊंट ने मालिक जीतू को नीचे पटक दिया और ऊपर पैर रख दिया। बाद में वह उसके ऊपर बैठ गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के समय वह अकेला था। । तब तक जीतू की मौत हो चुकी थी। इसके बाद ग्रामीणों पे पुलिस को सूचना दी।

करीब पौन घंटे तक पड़ा रहा शव
मृतक के पड़ोसी कल्याणसर निवासी लालसिंह बीका ने बताया कि केशरदेसर गांव में बुधवार शाम को ऊंटनी द्वारा अपने ही मालिक जीतू को मारने की घटना भी काफी हृदय विदारक थी। ऊंटनी को गाड़े में जोतने के दौरान ऊंटनी आक्रोशित हो गई। ऊंटनी जीतू के पीछे भागी। उसने बचने की कोशिश की वह डर कर भागा। ऊंटनी उसके पीछे भागी और करीब ५०० मीटर की दूरी पर जाकर ऊंटनी ने पीछे से जीतू का सिर मुंह में जकड़ लिया। ऊंटनी ने जीतू को मुंह में दबोच कर जोर से नीचे पटक दिया, जिससे वह वही निढाल हो गया। इसके बाद ऊंटनी कई देर तक उसके चारों तरफ घुमती रही और बाद में उसके पास बैठ गई।

बमुश्किल ऊंटनी को किया काबू
लालसिंह ने बताया कि घटना के समय के समय खेत मालिक हड़मान वहां मौजूद था लेकिन वह घटनास्थल से काफी दूर था। वह घटना के करीब २० मिनट बाद शौच के लिए गया तब उसे गाड़ा खड़ा खड़ा दिखाई गया और ऊंटनी गाड़ी से करीब १५०० मीटर की दूरी पर थी। तब उसे आशंका हुई। वह ऊंटनी के पास गया तो वहां का दृश्य देखकर घबरा गया। बाद में ग्रामीणों को सूचना दी। तब गांव के सात-आठ लोग वहां पहुंचे। ऊंटनी तब भी आक्रोशित थी और किसी को अपने पास आने तक नहीं दे रही थी। इसके बाद बमुश्किल ऊंटनी को काबू में कर एक पेड़ से बांधा गया।

एक महीने में तीसरी घटना
लूणकरनसर तहसील में सात मार्च को सहजरासर गांव में ऊंट ने झंझेऊ निवासी राजूराम, १६ मार्च को नयाशहर थाना क्षेत्र की रेलवे कॉलोनी में करमीसर निवासी भंवराराम को मौत के घाट उतार दिया। भंवराराम की ऊंट ने गर्दन ही उखाड़ दी थी।

Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned