नसबंदी के बाद दो महिलाओं की मौत का मामला पहुंचा सरकार के पास

कमेटी ने जांच रिपोर्ट निदेशक को भेजी

By: Jaiprakash

Updated: 13 Jul 2020, 09:04 AM IST

बीकानेर। सूरतगढ़ के सरकारी अस्पताल में नसबंदी ऑपरेशन के बाद दो महिलाओं की मौत के मामले की जांच कर कमेटी ने रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग के निदेशक के सुपुर्द कर दी है। अब जांच रिपोर्ट सरकार के पास है। इस पर सरकार को निर्णय लेना है। वहीं इस मामले में सूरतगढ़ सीएचसी एवं शिविर प्रभारी डॉ. दर्शनसिंह को एपीओ कर दिया गया था।


चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं बीकानेर जोन के संयुक्त निदेशक डॉ. देवेन्द्र चौधरी ने बताया कि नसबंदी ऑपरेशन के दो महिलाओं की मौत के प्रकरण की जांच करने के लिए जयपुर, बीकानेर व श्रीगंगानगर के स्वास्थ्य अधिकारी पहुंचे। टीम ने मृतक महिला शारदा के परिजनों सहित एम्बुलेंस कर्मी, शिविर में लगे कर्मचारियों, आशा सहयोगिनी सहित १५ जनों के बयान लिए गए थे।
इन्होंने की थी जांच
परिवार कल्याण स्वास्थ्य भवन जयपुर परियोजना निदेशक डॉ. गिरीश द्विवेदी, बीकानेर से स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ, देेवेन्द्र चौधरी, परिवार कल्याण कार्यक्रम बीकानेर के डिप्टी सीएमएचओ डॉ. योगेन्द्र तनेजा, डॉ. जसविन्द्र गिल, श्रीगंगानगर पीएमओ कार्यालय से गायनोलॉजिस्ट डॉ. अनामिका, जिला प्रजनन अधिकारी एवं टीकाकरण अधिकारी डॉ. एचएस बराड़, परिवार कल्याण कार्यक्रम के एडीशनल सीएमएचओ डॉ. मुकेश मेहता जांच कर रिपोर्ट तैयार की।

सुलगते सवाल, कौन दे जवाब
ऑपरेशन के बाद दो महिलाओं की मौत के मामले में प्रथमदृष्टया एक चिकित्सक को तुरंत प्रभाव से एपीओ कर दिया गया। सूत्र बताते हैं कि जांच कमेटी ने रिपोर्ट में एक दो कार्मिकों और भी दोषी मानते हुए रिपोर्ट तैयार की है। यह रिपोर्ट सरकार के पास भेज दी गई लेकिन तीन दिन बाद भी रिपोर्ट पर कोई कार्रवाई नहीं होने से कई सवाल उठने लगे हैं। इस पूरे प्रकरण में केवल एक ही चिकित्सक की लापरवाही रही। प्रकरण के अन्य दोषियों को बचाने की जुगत हो रही है। कुछ इस तरह के सवाल है, जिनके जवाब कोई नहीं दे रहा है।


रिपोर्ट सरकार को भेजी
जांच रिपोर्ट तैयार कर रिपोर्ट सरकार को भेज दी गई है। अब कार्रवाई सरकार को करनी है।
- डॉ. गिरीश द्विवेदी, निदेशक परियोजना परिवार कल्याण जयपुर

Jaiprakash Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned