शिविरों में बेरोजगारों की आस नहीं हो रही पूरी

bikaner news: रोजगार कार्यालय का कौशल व स्वरोजगार पर जोर

By: dinesh swami

Published: 03 Jul 2020, 05:05 AM IST

बीकानेर. उपक्षेत्रीय रोजगार कार्यालय के माध्यम से निजी कंपनियों में रोजगार के लिए बेरोजगार युवाओं की उम्मीद पूरी नहीं हो पा रही है। वहीं कार्यालय इन युवाओं में कौशल विकास एवं स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने पर जोर लगा रहा है।

पूर्व में विभाग जिले में बड़े पैमाने पर रोजगार मेला लगाता था। इसके बाद सरकार के दिशा-निर्देश पर हर माह प्लेसमेंट शिविर लगाने लगे। इसके जरिये नियजकों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित कर पंजीकृत युवाओं को कार्यालय में बुलाकार साक्षात्कार कराया जाने लगा। नियोजक अपनी आवश्यकता अनुरूप चयन कर नियुक्ति देने लगे। इसमें भी जिस संख्या में आशार्थी आते हैं उस अनुपात में उनको रोजगार नहीं मिल पा रहा है।

प्लेसमेंट शिविर मार्च 2018 से अप्रेल 2019 तक
दिनांक नियोजक प्रार्थी प्रा.नियोजन अंतिम चयन

27.4.18 02 46 46 03

25.5.18 02 54 54 2106.7.18 01 39 39 24

15.7.18 01 09 09 0221.8.18 01 70 70 10

17.9.18 01 48 48 1518.1.19 02 69 28 07

13.3.19 02 114 114 11

441 में से 93 का चयन

एक वर्ष की ही स्थिति देंखें तो441 आशार्थियों में से 93 का ही चयन हो पाया। इसी प्रकार अप्रेल 2019 से वर्तमान वर्ष तक के रोजगार मेलों व कौशल रोजगार एवं उद्यमिता शिविरों में नजर डालें तो भी स्थिति कुछ ऐसी ही दिखेगी। इस दौरान17 मेलों का आयोजन किया गया इनमें1677 युवाओं को नियोजन के अवसर प्रदान किए गए। वहीं 396 युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित कर अवसर प्रदान किए गए। इसके तहत युवाओं को प्रशिक्षण देकर एवं स्वरोजगार के लिए ऋण प्रदान करने के बारे में बताया गया। इस बार कोरोना संक्रमण के कारण विभाग ने मई एवं जून में ऑनलाइन शिविर लगाए। इसके तहत पंजीकृत बेरोजगारों का चयन ऑनलाइन के माध्यम से किया गया।

dinesh swami Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned