scriptकोडमदेसर तालाब में हजारों मछलियां मरी, गर्मी व पानी की कमी बताया कारण | Patrika News
बीकानेर

कोडमदेसर तालाब में हजारों मछलियां मरी, गर्मी व पानी की कमी बताया कारण

तालाब में पिछले दो दिनों से मछलियों के मरने का सिलसिला चल रहा है, जिससे तालाब की सतह पर मृत मछलियां नजर आ रही

बीकानेरJun 27, 2024 / 01:13 am

Hari

कोडमदेसर तालाब में मृत मछलियों को निकालते कर्मचारी।

मत्स्य विभाग कि टीम पहुंची, गांव में फैली बदबू से ग्रामीण परेशान

कोडमदेसर तालाब में कम पानी व गर्मी के कारण हजारों मछलियां मर गई। मौक़े पर पहुंचे अधिकारियों के निर्देश पर ग्राम पंचायत ने मरी मछलियों को जमींदोज करने का काम शुरू कर दिया है।
श्रीकोलायत उपखण्ड क्षेत्र के प्रसिद्ध भैंरूनाथ मंदिर कोडमदेसर स्थित तालाब में पिछले दो दिनों से मछलियों के मरने का सिलसिला चल रहा है, जिससे तालाब की सतह पर मृत मछलियां नजर आ रही है। मरी मछलियों के कारण गांव में फैली बदबू से परेशान ग्रामीणों ने सरपंच प्रतिनिधि जेठाराम कुम्हार को मामले की जानकारी दी। मौक़े पर पहुंचे कुम्हार ने मौका देख एसडीएम राजेंद्र कुमार को जानकारी दी। इसके बाद कोलायत विकास अधिकारी वीरपाल सिंह, सहायक विकास अधिकारी दिलीप सिंह बीका व भवानी सिंह मौक़े पर पहुंचे तथा मामले की जानकारी ली। दोपहर को मत्स्य विभाग के क्षेत्रीय विकास अधिकारी पूर्णाराम प्रजापत व उनकी टीम मौक़े पर पहुंची। प्रजापत ने कहा कि कम पानी व गर्मी मछलियों के मरने का कारण है। उन्होंने मृत मछलियों को तालाब से बाहर निकलवाकर मिट्टी में गाड़ने के निर्देश दिए। साथ ही तालाब में चूना डालने की बात कही, जिससे पानी साफ हो सके। इस दौरान ग्राम विकास अधिकारी सुनील सुथार, कालूदास, शिवदास सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।
काम शुरू तीन दिन लगेंगे

सरपंच प्रतिनिधिकुम्हार ने बताया कि तालाब में हजारों की संख्या में मछलियां मरी हुई है। मछलियों को तालाब से बाहर निकालने के लिए दो से तीन दिन लग जाएंगे। इसके लिए पंचायत स्तर पर जेसीबी तथा मजदूरों से काम शुरू करवा दिया है। सरोवर से थोड़ी दूरी पर गड्ढा खोदकर मछलियां दफनाने का कार्य शुरू कर दिया गया है।

Hindi News/ Bikaner / कोडमदेसर तालाब में हजारों मछलियां मरी, गर्मी व पानी की कमी बताया कारण

ट्रेंडिंग वीडियो