सर्दी के मौसम में इन खाद्य वस्तुओं का करें सेवन ...

सर्दी में बदला जायका, रसोई में बदला मैन्यू

तिल से बनी वस्तुओं की बढ़ी मांग, घरों में भी बदला मैन्यू

बीकानेर. गत एक सप्ताह से कड़ाके की सर्दी पडऩे के साथ ही घरों की रसोई का मैेन्यू ही अब बदल गया है। जिन घरों में गर्मी के समय खाना बनाकर रख दिया जाता था। उन घरों में अब गर्म खाना पसंद किया जाने लगा है और सब्जी में अब सीजन के अनुसार बदल गई है। साथ ही बच्चे भी रसोई में कुछ नया बनाने की मांग करने लगे है।

बीकानेर. गत एक सप्ताह से कड़ाके की सर्दी पडऩे के साथ ही घरों की रसोई का मैेन्यू ही अब बदल गया है। जिन घरों में गर्मी के समय खाना बनाकर रख दिया जाता था। उन घरों में अब गर्म खाना पसंद किया जाने लगा है और सब्जी में अब सीजन के अनुसार बदल गई है। साथ ही बच्चे भी रसोई में कुछ नया बनाने की मांग करने लगे है। साथ ही बाजारों में भी दुकानों पर अब सब कुछ गर्म मिलने लगा है। ग्राहक मिठाई तथा कचौली-समोसा और पकौड़ों पर हाथ रखकर ही लेना पसंद करते हैं। इस समय इन खाद्य वस्तुओं की दुकानों पर भीड़ उमडऩे लगी है। दुकानदार भी ग्राहकों की पसंद का ख्याल रखकर उत्पाद बना रहे है। साथ ही तिल से बनी वस्तुओं की भी मांग बढऩे लगी है। हालांकि अभी तक गाजर तथा अन्य सब्जियों के भाव आसमान छू रहे है लेकिन बाजार में मांग को देखते हुए ऊंचे भावों में भी दुकानदार खरीदने को मजबूर है। गर्म खाद्य वस्तुओं की मांग संभवत: जनवरी तक रहेगी लेकिन बाद में मौसम में बदलाव शुरू होने के कारण इनकी मांग कमजोर होने लगती है। बाजार में इस समय दाल तथा मिठाई में दाल तथा गाजर का हलवा तथा गौैंदपाक को अधिक पसंद किया जा रहा है। जबकि नमकीन में गर्म समोसा, कचौैड़ी, कोपता और पकौड़ों की मांग अधिक बनी हुई है। इसके साथ ही तिल से बनी वस्तुओं की तरफ भी ग्राहकों का रुझान बना हुआ है। तिल से बनी वस्तुओं के व्यापारी पप्पु जोशी ने बताया कि गत एक सप्ताह से इन खाद्य वस्तुओं की मांग बढऩे लगी है। हालांकि तिलों के भाव गत वर्ष की तरह स्थिर बने हुए है। तिल से बनी वस्तुओं की बिक्री मकर संक्रांति तक परवान रहेगी। वहीं मिठाई के व्यापारी राजू अग्रवाल तथा शिवसिंह राजपुरोहित ने बताया कि इस समय ग्राहक दाल का हलवा तथा गौंदपाक लेना ही अधिक पसंद कर रहे हैंं। उच्च क्वालिटी की गाजर बाजार में नहीं आ रही है।

खाद्य पदार्थ भाव

रबड़ी घेवर 380 से 400
सादा घेवर 340 से 360

फिका घेवर480 से 550
दाल का हलवा360

गाजर का हलवा 360
गौंदपाक400

मि_ी फिणी 350 से 460
फिक्की फिणी450 से 560

तिल के लड्डू 200 से440
तिल पापड़ी 200 से 280

गोटा पापड़ी 80 से300
गजक280 से 300 (सभी भाव प्रति किलोग्राम)

कटोरी घेवर 45 रुपए प्रति नगर

Ramesh Bissa Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned