scriptVacancies for Veterinary Officers | पशु चिकित्सा अधिकारियों को ढूंढते रह जाओगे | Patrika News

पशु चिकित्सा अधिकारियों को ढूंढते रह जाओगे

बज्जू क्षेत्र में 8 अस्पतालों में मात्र एक चिकित्सक

बीकानेर

Published: April 22, 2022 05:56:26 pm

भागीरथ ज्याणी
बज्जू. कहने को तो उपखंड क्षेत्र में 2 प्रथम श्रेणी अस्पताल सहित आठ पशु अस्पताल है लेकिन स्थिति इस कदर खराब है कि आठ में से मात्र एक बज्जू अस्पताल में ही एक वरिष्ठ चिकित्सक है अन्य सभी सात अस्पतालों में पशु सेवा भगवान भरोसे है। जब गांवों में पशु अस्पताल खुले तो ग्रामीणों ने उम्मीद थी कि पशुओं के लिए सुलभ उपचार मिलेगा लेकिन धीरे धीरे सुविधाओं कमी से लाभ नही मिल रहा है जिससे पशुपालक निराश है। बज्जू उपखंड का क्षेत्र पश्चिम राजस्थान का भाग है और इस क्षेत्र में पशुओं की संख्या ज्यादा है। इससे पशुपालकों को आए दिन छोटी छोटी बीमारियों को लेकर परेशान होना पड़ता है।
पशु चिकित्सा अधिकारियों को ढूंढते रह जाओगे
पशु चिकित्सा अधिकारियों को ढूंढते रह जाओगे

सेवड़ा व बिजेरी में एक भी पद स्वीकृत नहीं
उपखंड के सेवड़ा व बिजेरी में कहने को तो पशु अस्पताल है लेकिन दोनों जगहों पर कोई पद भरा हुआ नही है। इन दोनों गांवों व आसपास की ढाणियों के लोगों को रुपए देकर निजी स्तर पर चिकित्सक को बुलवाना मजबूरी है। वही राववाला, बरसलपुर, माणकासर व फुलासर बड़ा के अस्पताल पशुधन सहायक के भरोसे संचालित हो रहे है।

यह है पदों की स्थिति
बज्जू व बीकमपुर में प्रथम श्रेणी के पशु अस्पताल है। बज्जू में पशु चिकित्सा सहायक, गड़रिया व स्वीपर का पद रिक्त है तो बीकमपुर में वरिष्ठ पशु चिकित्सा अधिकारी, पशु चिकित्सा सहायक व जलधारी का पद रिक्त है। क्षेत्र की बात की जाए तो पशु चिकित्सा सहायक के सभी 6 पद रिक्त, पशुधन सहायक के 27 में से 16 पद रिक्त, पशुधन परिचर के 6 में से 2 पद रिक्त, गड़रिया के तीनों व जलधारी के 23 में से 22 पद रिक्त है।
८ में से ७ अस्पतालों में डॉक्टर नहीं
बज्जू उपखंड मुख्यालय के अलावा बीकमपुर, राववाला, बरसलपुर, बिजेरी, सेवड़ा, माणकासर व फुलासर बड़ा में चिकित्सक के पद स्वीकृत है लेकिन सभी जगह पद रिक्त है। बज्जू अस्पताल में एकमात्र चिकित्सक को पूरे नोडल का कामकाज, बैठकों में जाना आदि कार्य करना पड़ता है। शेष सभी अस्पताल पशुधन सहायक के भरोसे है तो कुछ जगह भवनों पर ताले लटक रहे हैं।
गांवों के उपस्वास्थ्य केंद्रों पर ताले
उपखंड के 17 ग्राम पंचायतों में उपस्वास्थ्य केंद्र है। इनमें अधिकतर केंद्रों पर ताला है। उपखंड के कोलासर पश्चिम, मिठडिय़ा,चारणवाला, चारणवास, गजेवाला, फतुवाला, गोकुल,केहरली, गोडू, फुलासर छोटा व नगरासर में पशुधन सहायकों के पद रिक्त होने से पशु उप स्वस्वास्थ्य केंद्रों पर ताला है जिससे पशुपालक भटकाव को मजबूर है।
&रिक्त पदों को लेकर उच्च अधिकारियों को लगातार अवगत करवाया जा रहा है फिर से अवगत करवाया जाएगा।
डॉ. गीता बेनीवाल, उपनिदेशक पशुपालन विभाग, बीकानेर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.