दुकानें बंद पर सड़कों पर दौड़ते रहे वाहन

bikaner news - Vehicles kept running on the roads closed on shops

By: Jaibhagwan Upadhyay

Published: 12 Apr 2021, 11:10 AM IST

कफ्र्यू की हकीकत : रात नौ बजे बाद भी रही आवाजाही

बीकानेर. रात्रिकालीन कर्फ्यू के आदेश रविवार को पहले ही दिन औपचारिकता की भेंट चढ़ गए। रविवार रात नौ बजे बाद भी सड़कों पर वाहनों की आवाजाही बेरोक-टोक जारी रही, जबकि जिला कलक्टर ने शनिवार को ही आदेश जारी कर रविवार से रात नौ बजे बाद रात्रिकालीन कर्फ्यू के आदेश जारी किए थे।

हालांकि कर्फ्यू के दौरान शहर के प्रमुख बाजारों की दुकानें रात आठ बजे से ही बंद होनी शुरू हो चुकी थी, लेकिन वाहनों की आवाजाही रातभर जारी रही। पत्रिका टीम ने जब रविवार को नौ बजे बाद शहर के प्रमुख बाजारों के हालात देखे तो केईएम रोड सरीखे बाजार में वाहन चालकों की भीड़ दिखाई दी, जबकि रविवार को ही जिला कलक्टर के साथ पुलिस एवं जिला प्रशासन के उच्चाधिकारियों ने रात्रिकालीन कर्फ्यू का निरीक्षण किया था।


भीड़ को देख आगे बढ़ गया काफिला
जिला कलक्टर नमित मेहता एवं पुलिस प्रशासन के उच्चाधिकारियों ने रात नौ बजे बाद शहर के विभिन्न चौराहों एवं व्यस्ततम बाजारों का निरीक्षण किया, लेकिन उन्होंने सड़कों पर बेलगाम दौड़ रहे वाहनों के खिलाफ कार्रवाई करने या उन्हें कर्फ्यू की गाइडलाइन के बारे में कुछ बताने की जहमत तक नहीं उठाई। केईएम रोड, स्टेशन रोड, गजनेर रोड, जस्सूसर गेट तथा परकोटे के अंदर रात्रिकालीन कर्फ्यू की पालना कागजी साबित हुई।

जिला कलक्टर मेहता ने प्रशासनिक अमले के साथ रविवार को कलक्ट्रेट से महात्मा गांधी मार्ग, स्टेशन रोड, रानी बाजार पुलिया, पवनपुरी, जयनारायण व्यास कॉलोनी, खतूरिया कॉलोनी तथा जयपुर रोड होते हुए मेजर पूर्ण सिंह सर्किल तक रात्रिकालीन कर्फ्यू की स्थिति को देखा। सरकारी काफिले में अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा, प्रशिक्षु आइएएस कनिष्क कटारिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) शैलेन्द्र इन्दोलिया, कन्हैयालाल सोनगरा, बिंदु खत्री, सीओ सिटी सुभाष शर्मा सहित विभिन्न अधिकारी शामिल रहे।


दुकानदारों पर मार
केईएम रोड पर एक दुकानदार ने बताया कि कोरोना गाइडलाइन की पालना केवल दुकानदारों पर ही होती दिखाई दे रही है। सड़कों पर देर रात तक वाहनों की आवाजाही बिना रोक-टोक हो रही है, लेकिन किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो रही। वहीं दुकानदारों को धमकाने और उन्हें मारने तक के वीडियो वायरल हो रहे हैं। दुकानदार ने आरोप लगाया कि कोरोना गाइडलाइन की पालना के नाम पर अधिकारी खानापूर्ति करने में लगे हैं।

फाटक बंद हु़आ तो लग गई भीड़
रात्रिकालीन कफ्र्यू की हकीकत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि रविवार को 9.40 बजे कोटगेट रेल फाटक बंद हुआ तो वहां वाहनों की भीड़ लग गई। जबकि इससे एक मिनट पहले ही जिला प्रशासन और पुलिस महकमे का काफिला शहर में रात्रिकालीन कर्फ्यू की पालना करवाने के लिए निकला था।


72 घंटे के लिए दुकान सील
तहसीलदार सुमन शर्मा के नेतृत्व में जॉइंट एनफोर्समेंट टीम ने रविवार को गंगाशहर में हीरालाल ज्वैलर्स की दुकान को 72 घंटे के लिए सील कर दिया। तहसीलदार ने बताया कि कर्फ्यू की घोषणा के बावजूद रात 8.30 बजे दुकान खुली पाई गई थी।

Jaibhagwan Upadhyay Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned