संविदारत वेटरनरी डॉक्टरों को जून 2016 से अभी तक नहीं मिला वेतन

संविदारत वेटरनरी डॉक्टरों को  जून 2016 से अभी तक नहीं मिला वेतन
salary

प्रदेश में संविदा पर लगे वेटरनरी डॉक्टरों को बकाया वेतन देने तथा सेवा अवधि एक वर्ष बढ़ाने के आदेश दिए गए हैं। इसके बावजूद इन अधिकांश डाक्टरों को जून 2016 से अभी तक वेतन नहीं मिला है।

प्रदेश में संविदा पर लगे वेटरनरी डॉक्टरों को बकाया  वेतन देने तथा सेवा अवधि एक वर्ष बढ़ाने के आदेश दिए गए हैं। इसके बावजूद इन अधिकांश डाक्टरों को  जून 2016 से अभी तक वेतन नहीं मिला है।



 प्रमुख शासन सचिव कुंजी लाल मीणा ने 6 अप्रेल 2017 को वेटरनरी डॉक्टरों का बकाया वेतन एक माह में देने तथा नियमों के तहत प्रतीक्षा सूची भरने तथा शेष पशु चिकित्सकों की सेवा अवधि बढ़ाने के उच्च न्यायालय के आदेश की राज्य सरकार ने पालना नहीं की है। 



सेवा अवधि एक वर्ष बढ़ा दी गई है। पशु पालन निदेशालय राजस्थान सरकार के निदेशक की ओर से 3 मई 2017 को जारी आदेश में मुख्य लेखाधिकारी नियत पारिश्रमिक पर कार्यरत पशु चिकित्सा अधिकारियों के वेतन भुगतान के लिए बजट की ऑन लाइन स्वीकृति करवाएं। 


read : चार में से दो सोनोग्राफी मशीनें बंद, मरीजों को करना पड़ रहा लम्बा इंतजार



पशु पालन निदेशक ने संबंधित अतिरिक्त निदेशक, संयुक्त निदेशक को निर्देश दिया है कि नियत पारिश्रमिक पर कार्यरत पशु चिकित्सा अधिकारियों को न्यायालय के निर्णय के तहत बकाया वेतन भुगतान की कार्रवाई कर 5 मई 2017 अनुपालना कर सूचित करें। 



अधिकांश जिलों में नहीं आया वेतन 

नियत पारिश्रमिक पर कार्यरत पशु चिकित्सा अधिकारियों का अधिकांश जिलों जैसे भीलवाड़़ा, झुझुनूं, पाली, जयपुर, प्रतापगढ़, डूंगरपुर में वेतन का भुगतान नहीं किया गया है। पशु पालन विभाग में  



1 जून 2016 से एक वर्ष अथवा राजस्थान लोक सेवा आयोग से चयनित अभ्यार्थी उपलब्ध होने तक जो भी पहले हो, 109 पशु चिकित्सा अधिकारियों की अस्थायी सेवा अवधि बढ़ाने की स्वीकति दे दी गई है।

- डॉ. योगेश आर्य, वेटरनरी डॉक्टर। 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned