नहीं मिलेगी मतदाता पर्ची, वीवीपैट भी नहीं

नगर निगम चुनाव में मतदाताओं के लिए घर-घर मतदाता पर्चियों का वितरण नहीं होगा। बीएलओ मतदाताओं के घर मतदाता पर्चिया नहीं पहुंचाएंगे। वहीं डाक मतपत्र, ईवीएम बैलेट व टेण्डर वोट पर प्रत्याशियों के फोटो नजर नहीं आएंगे। निकाय चुनाव में ईवीएम के साथ वीवीपैट भी नहीं होंगी।

बीकानेर. नगर निगम चुनाव में मतदाताओं के लिए घर-घर मतदाता पर्चियों का वितरण नहीं होगा। बीएलओ मतदाताओं के घर मतदाता पर्चिया नहीं पहुंचाएंगे। वहीं डाक मतपत्र, ईवीएम बैलेट व टेण्डर वोट पर प्रत्याशियों के फोटो नजर नहीं आएंगे। निकाय चुनाव में ईवीएम के साथ वीवीपैट भी नहीं होंगी।


लोकसभा चुनाव के दौरान केन्द्रीय निर्वाचन आयोग के प्रावधानों के तहत ये व्यवस्थाएं मतदाताओं को उपलब्ध हुई थी। जिला निर्वाचन अधिकारी कुमार पाल गौतम ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग ने इन बिन्दुओं के प्रावधान नहीं रखे हैं।


इस बार वीवीपैट की व्यवस्था नहीं
लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाताओं ने ईवीएम में वोट करने के बाद अपने वोट को वीवीपैट के माध्यम से देखा व संतुष्ट हुए कि उन्होंने जिस प्रत्याशी को वोट किया, उसी प्रत्याशी को वोट पड़ा। निकाय चुनाव के दौरान ईवीएम के साथ वीवीपैट की व्यवस्था नहीं होगी।

मॉक पोल के बाद ईवीएम होगी क्लियर, फिर शुरू होगा मतदान
बीकानेर ञ्च पत्रिका. निकाय चुनाव में मतदान दिवस पर मतदान शुरू होने से पहले मॉकपोल होगा। मॉकपोल के बाद ईवीएम क्लियर होगी व इसके बाद मतदान शुरू होगा।

जिला निर्वाचन अधिकारी कुमार पाल गौतम ने निकाय चुनाव को लेकर नियुक्त सभी पीठासीन अधिकारियों और मतदान अधिकारियों को प्रत्याशियों या प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में मॉकपोल करने के निर्देश दिए। डूंगर कॉलेज में चल रहे पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों के प्रशिक्षण में गौतम ने कहा कि मतदान के दौरान समय-समय पर मतों की संख्या की जानकारी लेने के लिए नियंत्रण यूनिट के बटन को दबाकर संख्या ज्ञात कर ली जाए और मतदाता रजिस्टर की प्रविष्टि से मिलान कर लिया जाए, ताकि किसी भी तरह की गलती होने की संभावना ही न रहे।


13 को होगा प्रथम प्रशिक्षण
गौतम ने बताया कि पीठासीन अधिकारी एवं प्रथम मतदान अधिकारी और द्वितीय मतदान अधिकारी का प्रशिक्षण 8 नवंबर से राजकीय डूंगर महाविद्यालय में चल रहा है। यह प्रशिक्षण 12 नवम्बर को नहीं होगा, जबकि प्रथम दौर का अंतिम प्रशिक्षण 13 नवम्बर को यथावत रखा गया है। राजकीय डूंगर महाविद्यालय में आयोजित प्रशिक्षण में मास्टर ट्रैनर के रूप में डॉ. गौरव बिस्सा, डॉ. वाई.बी. माथुर, डॉ. शमिन्द्र सक्सेना, प्रशान्त जोशी आदि ने प्रशिक्षण दिया।

Nikhil swami
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned