scriptWater flowing in vain somewhere | बूंद-बूंद के लिए मोहताज तो कहीं व्यर्थ बहता पानी | Patrika News

बूंद-बूंद के लिए मोहताज तो कहीं व्यर्थ बहता पानी

जलदाय विभाग की अनदेखी: अनियमित जलापूर्ति प्रणाली से कस्बेवासी परेशान

बीकानेर

Published: April 29, 2022 06:05:54 pm

संजय पारीक. महावीर सारस्वत
श्रीडूंगरगढ़. यह कैसी विडंबना है कि इस समय प्रचंड गर्मी में श्रीडूंगरगढ़ कस्बे सहित उपखंड के गांवों में पानी की किल्लत मची है। वहीं जलदाय विभाग की अनदेखी के चलते कस्बे की कई गलियों में पेयजल आपूर्ति लाइनों में लीकेज के चलते पानी व्यर्थ बह रहा है। साथ ही जलापूर्ति प्रणाली में बनी अनियमिताएं व दुरुपयोग कोढ़ में खाज वाला वाक्य चरितार्थ कर रहा है।

बूंद-बूंद के लिए मोहताज तो कहीं व्यर्थ बहता पानी
बूंद-बूंद के लिए मोहताज तो कहीं व्यर्थ बहता पानी

अनदेखी का आलम
कस्बे में जलापूर्ति प्रणाली ऐसी बनी है, जिससे कहीं घी घणा तो कहीं मु_ी चणा वाली कहावत चरितार्थ हो रही है। विभागीय अनदेखी का आलम ऐसा है कि कई घरों में मोटरों के जरिए पानी खींचा जा रहा है तो कई घरों में पानी की एक एक बूंद को लोग तरस रहे हैं। कई मोहल्ले के लोग पानी कनेक्शन के लिए तरस रहे हैं तो कई घरों में 2 से 3 कनेक्शन हैं लेकिन विभाग इस अनियमितता भरी पानी की वितरण प्रणाली पर विभाग आंखे मूंद कर बैठा है।

यहां सरदारशहर सड़क स्थित आदर्श विद्यालय के सामने लंबे समय से पाइप लीकेज के चलते रोजाना बड़ी मात्रा में पानी व्यर्थ बह रहा। मुख्य मार्ग पर व्यर्थ बहते पानी पर हर किसी की नजर जाती है और विभाग से इसको दुरुस्त करने की मांग भी कई बार हो चुकी है। ऐसे ही लीकेज कस्बे की कई गलियों में बने हैं। यहां तक नालियों एवं गन्दे पानी के बीच से गुजरने वाली पाइप लाइनों में लीकेज के चलते घरों में बदबूदार जलापूर्ति से लोग परेशान भी हो रहे हैं।

कस्बे में एक दिन छोड़ कर हो रही जलापूर्ति ने कस्बेवासियों को परेशानी में डाल दिया है। तेज गर्मी के चलते घरों में पानी की खपत बढ़ रही है। लोगों ने बताया कि एक दिन छोड़ कर जो पानी की सप्लाई हो रही है, वह आधा घण्टे की भी मुश्किल से होती है। इस दौरान बिजली चले जाना या अन्य व्यवधान हो जाए तो भारी परेशानी खड़ी हो जाती है। लोगों को छह सौ से सात सौ रुपए देकर पानी के टैंकर डलवाने पड़ रहे हैं, जो आम आदमी के बूते से बाहर है।


आज भी पनघट का नजारा
कस्बे के कई मोहल्ले ऐसे हैं जहां सार्वजनिक नल ही पानी का मुख्य जरिया है। यहां जलदाय विभाग की जलापूर्ति नहीं होती और न ही पाइप लाइन बिछी है। इन जगह बसर करने वाले सैंकड़ों परिवारों को गोशाला या अन्य संस्थाओं द्वारा पशु खेळी व राहगीरों के लिए लगाए गए सार्वजनिक नल के माध्यम से ही अपनी प्यास मिटानी पड़ती है। यहां गरीब परिवारों की महिलाओं, बच्चों को सिर पर घड़े एवं अन्य साधन से दूरी तय कर पानी का जुगाड़ करना पड़ रहा। कस्बे के धोलिया रोड स्थित शिव धोरा के पास बसे पचास से साठ घरों की आबादी में जलापूर्ति का कोई साधन नहीं है। यहां बसर कर रहे लोग प्रशासन, विभाग, राजनेता व जनप्रतिनिधियों को भी गुहार लगा चुके हैं।


इनका कहना है
कस्बे की जलापूर्ति लाइनों में जो लीकेज हैं। उनकी जानकारी मिलते ही दुरुस्त किए जा रहे हैं। वहीं अवैध कनेक्शन पर कार्रवाई की जा रही है।
प्रीतम सिंह, कनिष्ठ अभियंता, जलदाय विभाग, श्रीडूंगरगढ़

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: 16 बागी विधायक अगर फ्लोर टेस्ट में नहीं देंगे वोट तो क्या होगी तस्वीर, यहां जानें पूरा समीकरणMaharashtra Political Crisis: क्या उद्धव ठाकरे के इस फैसले ने बिगाड़ा सारा खेल! NCP की भूमिका पर भी उठ रहे है सवालMaharashtra Political Crisis: फ्लोर टेस्ट के खिलाफ शिवसेना की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में मंजूर, आज शाम 5 बजे होगी सुनवाईपहले खुलेआम कन्हैयालाल की नृशंस हत्या की धमकी, फिर सिर कलम कर दिया, आतंकियों की करतूतों से मेल खाता है तरीकानवीन जिंदल को भी कन्हैया लाल की तरह जान से मारने की मिली धमकी, दिल्ली पुलिस से की शिकायतMumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने कहा- 2/3 बहुमत है हमारे पासSecurity To Ambani Family: मुकेश अंबानी की सुरक्षा से जुड़े मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई त्रिपुरा HC के आदेश पर रोकजावेद पंप ने खोला राज, अटाला हिंसा में मौलाना और कई नेताओं के नाम आए सामने
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.