शादियों का सीजन शुरू, शहर में सता रहा चोरी का डर

Anushree Joshi

Publish: Nov, 15 2017 11:06:34 (IST)

Bikaner, Rajasthan, India
शादियों का सीजन शुरू, शहर में सता रहा चोरी का डर

दिन अब चोर वारदात करने से नहीं चुक रहे हैं। इतना ही नहीं चोर अतिव्यस्तम मार्ग, थानों के नजदीक दुकानों व घरों को अपना निशाना बना रहे हैं।

देवउठनी ग्यारस के बाद मांगलिक कार्यक्रमों का सीजन शुरू हो गया है। किसी के घर में शादी, सगाई, नामकरण है तो किसी के यहां गृहप्रवेश। ऐसे में परिवार व रिश्तेदारों के यहां आने-जाने में सभी कतरा रहे हैं।

 

इसकी वजह है शहर में हर दिन होती चोरी की वारदातें। रात हो या दिन अब चोर वारदात करने से नहीं चुक रहे हैं। इतना ही नहीं चोर अतिव्यस्तम मार्ग, थानों के नजदीक दुकानों व घरों को अपना निशाना बना रहे हैं।

 

अपराधों पर अंकुश नहीं
शहर में औसतन हर दूसरे दिन एक बाइक और पखवाड़ेभर में एक चौपहिया वाहन चोरी हो रहा है। पुलिस ने अपराधों की रोकथाम के लिए हाईटेक पुलिस कंट्रोल रूम एंड कमांड सेंटर स्थापित किया है। लेकिन एक भी मामले में पुलिस को सेंटर से मदद नहीं मिली है। सूत्रों की मानें तो शहर में महत्त्वपूर्ण स्थानों पर कैमरे लगाने के बाद उनकी सार-संभाल नहीं हो रही है। कई कैमरों का एंगल सही नहीं है तथा कुछ बंद हो गए हैं।

 

केस : 1
सांगलपुरा बस स्टैंड के पास वल्लभ गार्डन निवासी राहुल मीणा अपनी स्कोर्पियो गाड़ी लेकर पहुंचा। यहां गाड़ी साइड में खड़ी करने के बाद होटल में खाना खाने चला गया। कुछ देर में उसे गाड़ी स्टार्ट होने की आवाज सुनाई दी। वह दौड़कर बाहर आया। आरोपित उसकी आंखों के सामने गाड़ी भगा ले गया। उसने पुलिस को सूचना दी लेकिन आज तक गाड़ी व आरोपित का पता नहीं चला।

 

केस : 2
जेएनवीसी थाना क्षेत्र के जयपुर रोड स्थित वैष्णोधाम मंदिर और सदर थाना क्षेत्र के सार्दुलगंज में
एक चिकित्सक के घर हुई बड़ी चारी की वारदात में चोरों की करतूत सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई। इसके बावजूद आज तक पुलिस के हाथ खाली है। इतना ही नहीं चोर बेखौफ हर दिन नई वारदातों को अंजाम दे रहे हैं।

 

ताला लगाने में लग रहा डर

23 नवंबर को नणद के बेटे की शादी है। इससे पहले 16 को नणद के घर का मुहुर्त है। पारिवारिक मामला है, सभी को जाना जरूरी है लेकिन चोरियों के डर से घर को ताला लगाकर जाने में डर लग रहा है। दिन-दहाड़े सूने मकान में चोर वारदात कर देते हैं। ऐसे में इसका हल यह निकाला है कि घर का एक सदस्य रुकेगा। वह अगले दिन के कार्यक्रम में जाएगा।
- उर्मिला, गृहिणी, जेएनवसी

 

पुलिस प्रशासन की उदासीनता

4 दिसंबर को संगरिया में भतीजी की शादी है। दो-तीन दिन लगेंगे। समस्या आ रही है कि घर में रुकेगा कौन। परिवार के सदस्यों को घर पर रहने के लिए मना रहे हैं अगर बात नहीं बनी तो घर के एक सदस्य को मजबूरन रुकना पड़ेगा। चोरों का कोई पता नहीं है कब और कैसे वारदात कर दें। पुलिस प्रशासन की उदासीनता व लापरवाही के चलते आमजन चोरों के आतंक से भयभीत है।
- राधेश्याम, गंगाशहर निवासी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned