दो महिलाओं समेत एक ही परिवार के 10 बांग्लादेशी नागरिक पकड़ाए

- अहमदाबाद-हावड़ा एक्सप्रेस से जा रहे थे हावड़ा
- मोबाइल चोरी और फारेन एक्ट के तहत दर्ज किया अपराध

By: Ashish Gupta

Published: 28 Mar 2021, 05:50 PM IST

बिलासपुर. अहमदाबाद-हावड़ा एक्सप्रेस में अहमदाबाद से हावड़ा जा रहे एक ही परिवार के 10 बांग्लादेशी नागरिकों को आरपीएफ ने पकड़ा। बांग्लादेशी नागरिकों में 3 पुरूष, 2 महिलाएं, 1 किशोर और 4 बच्चे भी शामिल हैं। आरोपियों ने एक यात्री का मोबाइल चोरी किया था। आरोपियों के खिलाफ चोरी और फॉरेन एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया गया। आरपीएफ और जीआरपी आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

आरपीएफ से मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को प्रतिदिन की तहर आरपीएफ के जवान ट्रेनों की जांच कर रहे थे। अहमदाबाद से हावड़ा जाने वाली अहमदाबाद एक्सप्रेस की जांच के दौरान टीम को 3 पुरुष, 2 महिलाएं, 1 किशोर दिखे। उनके साथ 4 बच्चे भी थे। आशंका होने पर आरपीएफ की टीम ने टिकट दिखाने के लिए कहा। चारों के पास टिकट नहीं था।

ये भी पढ़ें: ATM में कैश जमा करने वाले अधिकारी की इस करतूत से हर कोई हैरान, चोरी छिपे करता था ये काम

पूछताछ में इन्होंने बताया कि वे अहमदाबाद में रह रहे थे और वहां से रोजी मजदूरी कर वापस हावड़ा जा रहे हैं। आरपीएफ की टीम इन्हें ट्रेन से उतारकर पोस्ट ले आई। यहां जब पूछताछ शुरू हुई तो सभी ने अपना पता हावड़ा बताया। टीम ने उनसे आधार कार्ड दिखाने के लिए कहा। इसके बाद आधार कार्ड नहीं होने और खुद को बांग्लादेशी नागरिक होने का खुलासा किया।

चोरी का मोबाइल बरामद
पूछताछ के दौरान जीआरपी थाने में ओड़िशा बलेश्वर निवासी गोविंद प्रधान पहुंचे। उन्होंने थाने में शिकायत दर्ज कराई कि अहमदाबाद-हावड़ा ट्रेन से सफर करते समय उनका मोबाइल चोरी हो गया है। पुलिस ने बांग्लादेशी नागरिकों की तलाशी ली तो उनके पास गोविंद का मोबाइल मिला। पुलिस ने चोरी का मोबाइल बरामद कर लिया है।

अहमदाबाद समेत कई शहरों में घूम चुके
पूछताछ में आरोपी रहीम, अनारूल ,इमरान और महिलाओं ने बताया कि वे कुछ महीनों पूर्व बांग्लादेश की सीमा पार कर अवैध रूप से भारत में प्रवेश किए थे। यहां वे मजदूरी करने आए थे।यहां आने के बाद वे कई शहरों में घूमने के बाद अहमदाबाद में काम मिलने पर कुछ दिनों तक वहां रुके थे। वहां से वापस हावड़ा और फिर बार्डर पार कर बांग्लादेश वापस जाने वाले थे।

ये भी पढ़ें: शादी के 10 साल बाद ससुराल वालों ने मांगा 5 करोड़ दहेज, बताई ये बड़ी वजह

आरपीएफ पोस्ट प्रभारी दिलीप कुमार बस्तिया ने कहा, अमदाबाद हावड़ा ट्रेन की जांच में बिना टिकट यात्रा करते पकड़े गए एक ही परिवार के 10 सदस्यों को पकड़ा गया है पूछताछ में उन्होंने अब तक खुद को बांग्लादेशी होने की जानकारी दी है।पकड़े गए लोगों ने खुद को रोहंगिया होने की बात स्वीकार नहीं की है। सभी को जीआरपी के सुपुर्द किया गया है। उनसे पूछताछ पूछताछ की जा रही है।

बिलासपुर जीआरपी थाना प्रभारी जीआर राठिया ने कहा, आरपीएफ ने एक ही परिवार के 10 सदस्यों को पकड़कर थाने के सुपुर्द किया है। आरपीएफ ने बताया है कि सभी बाग्लादेशी हैं और अवैध रूप से देश में प्रवेश करने के बाद देशभर के शहरों में घूम रहे थे। आरोपियों से यात्री का चोरी हुआ मोबाइल बरामद किया गया है। आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 379, 34 और फारेन एक्ट की धारा 14 ,(1 ),( ए) के तहत अपराध दर्ज किया गया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

ये पकड़ाए
1. रहीम ( 25)
2. इमरान( 20)
3. अनारूल लश्कर( 25)
4. 2 महिलाएं
5. 17 वर्षीय 1 किशोर
6. 4 नाबालिग

Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned