गौरेला, पेंड्रा, मरवाही का प्रस्तावित नया कलेक्टोरेट भवन में 125 कमरें एक एकड़ का परिसर

गौरेला, पेंड्रा, मरवाही नया जिला दस फरवरी को अस्तित्व में आएगा।

बिलासपुर . गौरेला,पेंड्रा,मरवाही नया जिला दस फरवरी को अस्तित्व में आएगा। इसके साथ ही गौरेला में 125 कमरें वाला नवनिर्मित छात्रावास को कलेक्टोरेट परिसर बनाया जाएगा । ऐसा प्रस्ताव है।
गौरेला में आदिवासी विकास विभाग का लगभग पांच सौ सीटर छात्रावास का निर्माण कराया है। इस भवन का अभी लोकार्पण नहीं हुआ है। इस भवन का परिसर इतना बड़ा है कि परिसर में ही लगभग दस हजार लोगों की सभा हो जाएगी। इसलिए इस भवन को नए जिले का कलेक्टोरेट परिसर बनाने के लिए सबसे उपयुक्त माना जा रहा है। इस भवन में 125 कमरें है। इसके अलावा पार्र्किंग की पर्याप्त व्यवस्था है। इस भवन के आसपास करीब दस एकड़ शासकीय भूमि है। प्रशासनिक दृॢष्टकोण से नए जिले के नवनिर्मित छात्रावास भवन को कलेक्टोरेट के सबसे अच्छा भवन माना जा रहा है।

मुख्यालय के गौरेला की दावेदारी मजबूत
नए जिले में गौरेला की जिला मुख्यालय की दावेदारी सबसे अधिक मजबूत माना जा रहा है। पेंड्रारोड (गौरेला ) तहसील का गठन वर्ष 1981 में हुआ था। वहीं पेंड्रा को तहसील का दर्जा वर्ष 2007 में एवं मरवाही को तहसील का दर्जा सन् 2002 में मिला । अपर कलेक्टर व अनुभाग पेंड्रारोड है।

दो नगर पंचायतें
नए जिले में दो नगर पंचायतें है। इनमें गौरेला एवं पेंड्रा शामिल है। दोनों नगर पंचायतों में 15-15 वार्ड है।

GANESH VISHWAKARMA Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned