मस्तूरी के 17 श्रमिक उप्र के मैनपुरी जिले में बंधक

labor mortgage brokers: मस्तूरी तहसील के ग्राम आकंडीह के 17 श्रमिक उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले में बंधक बनाए गए है।

By: GANESH VISHWAKARMA

Published: 07 Mar 2020, 11:55 AM IST

बिलासपुर . मस्तूरी तहसील के ग्राम आकंडीह के 17 श्रमिक उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले के ईंट भ_ा में बंधक बनाए गए है। एक बंधक श्रमिक के पिता ने इसकी शिकायत यहां कलेक्टर को मस्तूरी थाने, सहायक श्रम आयुक्त को एक पखवाड़े पहले की गई थी। लेकिन बंधक श्रमिकों को छुड़ाने के लिए अब तक टीम गठन नहीं हुआ है। इसलिए कोई बंधक श्रमिकों को ईंट भ_ा से रिहा कराने श्रम विभाग की तरफ से कोई पहल नहीं की है। साथ ही बंधक श्रमिकों को छुड़ाने के लिए जाने में विभाग के पास राशि नहीं होना आड़े आ रहीं है।

मस्तूरी तहसील के ग्राम आकंडीह निवासी पुरीराम गेंदले ने 21 फरवरी को मस्तूरी थाने में शिकायत दर्ज कराई गई। इसमें बताया कि थाना सिरगिट्टी के अंतर्गत ग्राम पोडी स के ठेकेदार के दलाल हरिराम उर्फ दरोगा ने अधिक मजदूरी का झांसा देकर ईंट भ_े में ईंट पथाई का काम कराने के लिए उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिला के ईंट भ_ा मालिक अकलेड पंडित व उसके पुत्र अंकित दुबे ग्राम भनऊ घाट थाना बिस्वा में काम कराने ले गया । वह पर ईंट भ_ा मालिकों द्वारा मजदूरों को मजदूरी कम दे रहे है, मारपीट कर रहे है और जबरिया बंधक बनाकर काम लिया जा रहा है।

ये बनाए गए बंधक
ईंट भ_ा में जिन मजदूरों को बंधक बनाया गया है। इनमें पटवारी राम , सोनिया बाई, सूरज कुमार , संतोष कुमार , भूरी बाई , संतू राम, सियाराम, निर्मला बाई , सूरज कुमार , अनिल प्रसाद, अन्नू बाई , प्रभाष कुमार , श्यामलाल ,कुमारी बाई ,रोहित पोर्ते आदि शामिल है। ईंट भ_ा में बंधक बनाए गए सदस्यों में नाबालिक बच्चे शामिल है।
बाक्स
थाने व श्रम विभाग का लगा रहे चक्कर
ईंट भ_ा में बंधक बनाए गए श्रमिक के रिश्तेदार मस्तूरी थाना, श्रम विभाग ,कलेक्टोरेट में अलग-अलग आवेदन देकर बंधक बनाए गए परिवार को छुड़ाने की मांग कर रहे है। लेकिन प्रशासन और विभाग ने अब तक कोई इोस पहल नहीं की है।

टीम का गठन नहीं,धन की कमी
जिला प्रशासन द्वारा बंधुआ मजदूरों को मुक्त कराने के लिए एक पखवाड़े गुजरने के बाद भी टीम का गठन नहीं किया है। साथ ही टीम को छुड़ाने के लिए जाने के लिए श्रम विभाग के पास धनराशि नहीं है। इसलिए श्रमिकों के लिए कोई पहल नहीं की गई है।

टीम गठन नहीं हुआ
बंधक श्रमिकों को छुड़ाने के लिए टीम गठन का अधिकारी कलेक्टर को है। फिलहाल टीम का गठन नहीं हुआ है। साथ ही धन संकट है।
ज्योति शर्मा, प्रभारी सहायक श्रमायुक्त ,बिलासपुर

GANESH VISHWAKARMA Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned