ढाई लाख कर्मचारी 9 अगस्त से तीन दिवसीय हड़ताल पर जाएंगे, ये होगा कारण !

छत्तीसगढ़ अधिकारी-कर्मचारी फेडरेशन का निर्णय

By: Amil Shrivas

Published: 24 Jul 2018, 04:41 PM IST

प्रदेश सरकार की वादाखिलाफी पर आंदोलन, सैकड़ों कर्मचारी जाएंगे रायपुर

बिलासपुर . प्रदेश के ढ़ाई लाख राजपत्रित अधिकारियों,कर्मचारियों से राज्य शासन की वादाखिलाफी के विरोध में छत्तीसगढ़ अधिकारी-कर्मचारी फेडरेशन 9,10,11 अगस्त को निश्चित कालीन हड़ताल करेगा। फेडरेशन की राज्य स्तरीय समिति ने यह निर्णय लिया है।

फेडरेशन के जिला संचालक सदस्य जीआर चंद्रा ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने वर्ष 2013 के विधान सभा चुनाव के पहले प्रदेश के सभी ढ़ाई लाख कर्मचारियों और राजपत्रित अधिकारियों को उनके सेवा काल में चार स्तरीय पदोन्नत वेतनमान देने समेत अनेक वायदा किया गया। चार वर्ष गुजरने के बाद भी राज्य सरकार ने यह वायदा पूरा नहीं किया है।

मांगें पूरी नहीं होने का असर दिखेगा विधान सभा चुनाव में
फेडरेशन ने शासन को चेतावनी देते हुए कहा कि प्रदेश के राजपत्रित अधिकारियों और कर्मचारियों की मांग पूरी नहीं करने पर इसका असर आगामी विधान सभा चुनाव पर पडेग़ा।

निश्चितकालीन हड़ताल 9 अगस्त से
फेडरेशन के जिला संचालक सदस्य चंद्रा ने बताया कि जिले में राजपत्रित अधिकारी-कर्मचारी आगामी 9 से 11 अगस्त तक तीन दिवसीय निश्चित कालीन हड़ताल पर जाएंगे। इसकी तैयारी फेडरेशन से जुड़े सभी संगठनों ने प्रारंभ कर दी है।

प्रदेशव्यापी महारैली निकाली
छग अधिकारी -कर्मचारी फेडरेशन के आव्हान पर बीते 21 जुलाई को प्रदेश के लाखों की संख्या में कर्मचारियों, अधिकारियों ने रायपुर में महारैली का आयोजन किया गया। इसमें जिले से सैकड़ों की तादाद राजपत्रित अधिकारी ,कर्मचारी शामिल हुए। इसमें प्रमुख रूप से डॉ. बीपी सोनी, जीआर चंद्रा, राजेंद्र दवे, जगत मिश्रा, रोहित तिवारी ,आलोक पंराजपे,परस कौशिक, राजेश पांडेय, विश्राम निर्मलकर , एनआर कनेवार, शिवानंद झा, सुनील यादव , ओमकार प्रसाद, आरसी ध्रुव,श्याममूरत कौशिक, रविंद्र तिवारी, किशोर शर्मा, अश्वनी पांडेय, आरके जांगड़े, दुखभंजन जायसवाल, जेके मिश्रा, आरएन राजपुरा आदि प्रमुख रूप से शामिल हुए।

Prev Page 1 of 2 Next
Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned