बाढ़ प्रभावित 25 लोगों को 7.68 लाख दिए, मौके से गायब एनएच के ईई.को सेलफोन से फटकार

तखतपुर नगर समेत तहसील के अनेक गांव मनियारी नदी, छोटी नर्मदा ,घोंघा नदी, में बाढ़ की वजह से करीब डेढ़ दर्जन गांव प्रभावित रहे। इन गांवों के लोगों को सुरक्षित विभिन्न स्थानों पर ठहराया गया है। बाढ़ से बिलासपुर -मुंगेली को जोडऩे वाली बरेला स्थित पुल क्षतिग्रस्त हो गया है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 23 Aug 2020, 02:18 PM IST

बिलासपुर. नगर पालिका तखतपुर के 25 बाढ़ पीडि़तों को शनिवार को 7 लाख 68 हजार 6 सौ रुपए का चेक कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने शनिवार को वितरित किया। वह बरेला के क्षतिग्रस्त पुल का निरीक्षण करने पहुंचे। मौके पर राष्ट्रीय राजमार्ग के कार्यपालन अभियंता नदारद रहे। कलेक्टर ने मौके पर ही सेलफोन से जमकर फटकार लगाई।

तखतपुर नगर समेत तहसील के अनेक गांव मनियारी नदी, छोटी नर्मदा ,घोंघा नदी, में बाढ़ की वजह से करीब डेढ़ दर्जन गांव प्रभावित रहे। इन गांवों के लोगों को सुरक्षित विभिन्न स्थानों पर ठहराया गया है। बाढ़ से बिलासपुर -मुंगेली को जोडऩे वाली बरेला स्थित पुल क्षतिग्रस्त हो गया है। इससे इस मार्ग पर अब तक यातायात बहाल नहीं हो सका है। हालांकि राष्ट्रीय राजमार्ग का अमला क्षतिग्रस्त पुल की मरम्मत में जुटा हुआ है।

-कलेक्टर ,एसपी मौके पर पहुंचे

कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर की कोरोना जांच रिपोर्ट शुक्रवार को निगेटिव आई है। वे रिपोर्ट आने तक होम क्वॉरंटीन पर रहे। शनिवार को कलेक्टर पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल के साथ तखतपुर क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का मौके पर जाकर निरीक्षण किया। इसमें तखतपुर नगर के बाढ़ प्रभावित लोगों से बातचीत की। प्रशासन की तरफ से दी जाने वाली सहायता के बारे में पूछताछ की गई। इस दौरान प्रभावितों ने अनेक समस्याओं की ओर कलेक्टर का ध्यान आकर्षित कराया। इस दौरान कोटा एसडीएम आनंदरूप तिवारी ,तखतपुर के तहसीलदार भूपेंद्र जोशी समेत राजस्व विभाग के अधिकारी, कर्मचारी मौजूद रहे।

चेक वितरण

डॉ. मित्तर ने नगर पालिका क्षेत्र के बाढ़ से प्रभावित व नुकसान होने पर २५ लोगों को ७ लाख ६८ हजार ६ सौ रुपए का चेक तहसील कार्यालय परिसर में प्रदान किया। साथ ही अतिशीघ्र सर्वे कराने के बाद सभी को क्षति राशि बतौर मुआवजा देने की बात कही।

ईई मौके से गायब

कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक समेत अधिकारियों का दल बरेला स्थित बाढ़ से क्षतिग्रस्त पुल का मुआयना करने पहुंचे। इस दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग के कार्यपालन अभियंता वायके सोनकर नदारद मिले। कलेक्टर मित्तर ने मौके पर ही एनएच के ईई को सेलफोन से खोजखबर ली। उनकी उदासीनता पर उनको फटकार लगाई। पुल के मरम्मत कार्य में और तेजी लाने और शीघ्रता से कार्य पूरा करने की हिदायत दी। पुल मरम्मत की रिपोर्ट हर दिन एसडीएम के माध्यम से देने के निर्देश दिए ।

राहत शिविर गए

कलेक्टर ने बाढ़ प्रभावितों के लिए अस्थाई रूप से बनाए गए राहत शिविर मंगल भवन एवं विभिन्न वार्डों का निरीक्षण कर प्रभावितों से चर्चा की। प्रभावितों द्वारा पेयजल एवं निस्तार की समस्याएं बताने पर कलेक्टर ने मुख्य नगर पालिका अधिकारी को तत्काल पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। वहीं प्रभावितों के लिए चावल-दाल की व्यवस्था करने खाद्य निरीक्षक को निर्देशित किया।

चिकित्सा शिविर लगेंगे

कलेक्टर ने प्रभावितों से कहा कि आगामी दो तीन के अंदर मुआवजा वितरण हो जाएगा । प्रभावितों को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए मौके पर मौजूद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को तत्काल चिकित्सा शिविर लगाकर स्वास्थ्य परीक्षण कराने के निर्देश दिए ताकि उन्हें किसी प्रकार की मौसमी बीमारी न हो।

मोढे़ का निरीक्षण

कलेक्टर ने ग्राम मोढे़ गए । वहां सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत खाद्यान्न वितरण, मकान एवं फसल क्षति का मौका मुआयना किया। उन्होंने प्रभावितों से चर्चा करते हुए कहा कि एक सप्ताह के अंदर फसल एवं मकान क्षति का मुआवजा मिल जाएगा।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned