गर्भवती हिप्पो की मौत के बाद फिर बजाया गया जांच का झुनझुना, दोषियों पर अभी तक कार्रवाई नहीं

गर्भवती हिप्पो की मौत के बाद फिर बजाया गया जांच का झुनझुना, दोषियों पर अभी तक कार्रवाई नहीं

Murari Soni | Updated: 19 Jun 2019, 07:47:39 PM (IST) Bilaspur, Bilaspur, Chhattisgarh, India

कानन पेंडारी में (Kanan Pendari Joo)गर्भवती हिप्पोपोटॉमस(Pregnant hippopotamus)की अचानक मौत (Hippo death)से हड़कंप मच गया है। सोमवार को पीसीसीएफ(PCCF) कौशलेंद्र कुमार पहुंचे। उन्होने कानन पेंडारी में काम करने सभी अधिकारी कर्मचारियों का बयान लिया है।

बिलासपुर. कानन पेंडारी जू में गर्भवती हिप्पोपोटॉमस की मौत की जांच के लिए अलग से कमेटी बनाई जाएगी। जिसमें बिलासपुर वन मंडल के बाहर के डीएफओ, एसडीओ और रेंजर को शामिल किया जाएगा। वहीं हिप्पोपोटॉमस के लीवर,हार्ट, ब्लड ,चारा, सहित पानी की भी जांच के सैंपल लिए बरेली व जबलपुर पशु चिकित्सा अनुसंधान केंद्र भेजा गया है।

þकानन पेंडारी में गर्भवती हिप्पोपोटॉमस की अचानक मौत से हड़कंप मच गया है। सोमवार को पीसीसीएफ कौशलेंद्र कुमार पहुंचे। उन्होने कानन पेंडारी में काम करने सभी अधिकारी कर्मचारियों का बयान लिया है। अब इस घटना की जांच के लिए अलग से कमेटी बनाने की तैयारी की जा रही है। जांच में किसी प्रकार की गड़बड़ी न हो इसलिए बिलासपुर वन मंडल के बाहर के डीएफओ, एसडीओ व रेंजर को शामिल किया जाएगा। इससे पहले वन्य प्राणियों की मौत में कानन पेंडारी व बिलासपुर वन मंडल के अधिकारियों को रखा जाता था।

 

Read more- विशालकाय मादा हिप्पो के मौत की आईं रुला देने वाली तस्वीरें, पेट फाड़कर निकाला गया बच्चा, नजारा देखकर आपकी आंखें भी हो जाएंगी नम

A separate committee will be formed to investigate death of hippo

जिसके कारण जांच कमेटी के ऊपर मिली भगत का आरोप भी लगता रहा है। हिप्पोपोटॉमस लीवर , फेफड़ा, हार्ट के पास मांस का टुकड़ा जहां खून का थक्का जमा था, पेट का चारा, शरीर के पानी का सैंपल जांच के लिए बेरली और जबलपुर भेजा गया है। वहीं लीवर का स्लाइड, लंग्स का स्लाइड, हार्ट के ब्लड की स्लाइड की जांच के लिए पशु विभाग के चिकित्सकों ने सैंपल लिया है।

OMG ये क्या हो रहा है, देश के इस बड़े जू में जानवरों का आ रहे हार्ट अटैक, पहले सफेद बाघ अब हिप्पो की मौत

आ सकते हैं वन मंत्री
वन मंत्री मो. अकबर को हिप्पोपोटॉमस की मौत जानकारी दी गई। पुरी घटनाक्रम की जानकारी लेने के लिए कौशलेन्द्र कुमार को रायपुर से भेजा गया। कौशलेन्द्र कुमार द्वारा रिपोर्ट सौंपने के बाद कभी भी वन मंत्री कानन पेंडारी जांच के लिए आ सकते हैं। इससे पहले सफेद बाघ विजय की मौत के बाद जांच करने आए थे लेकिन नतीजा सिफर ही रहा।

वर्जन- हिप्पोपोटामस की मौत जानकारी के बाद सीसीएफ आए थे। उन्होंने अधिकारी व कर्मचारियों का बयान भी लिया है। हिप्पोपोटॉमस की मौत जांच के लिए अलग से कमेटी बनाई जाएगी। जो अनेक बिन्दुओं पर जांच करेगी।
पीके केसर, फिल्ड डायरेक्टर, एटीआर

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned