पहले किया भाई का अपहरण फिर विवाहिता बहन को बुला कर बनाया बंधक, आरोपी गिरफ्तार

- भाई के अपहरण की जानकारी लगते ही महिला ने अपनी मां को भाई के अपहरण की कहानी बताई व मुंगेली चली गई।

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 13 Feb 2021, 09:04 PM IST

बिलासपुर. हिर्री थाना क्षेत्र निवासी 9 वर्षीय किशोर का सनकी आशिक ने अपहरण कर लिया। सनकी आशिक ने किशोर को छोडऩे के बदले मासूम की बड़ी बहन के सामने शर्त रखी कि अगर वह उसके पास नहीं आई तो वह भाई को मार देगा। भाई के अपहरण की जानकारी लगते ही महिला ने अपनी मां को भाई के अपहरण की कहानी बताई व मुंगेली चली गई। महिला के मुंगेली बस में बैठने की पुष्टि होने के बाद आरोपी ने उसके भाई को छोड़ दिया। मामले की शिकायत पर हिर्री पुलिस ने सनकी आशिक को गिरफ्तार कर महिला को बंधक मुक्त कर उसे परिजनों के सुपुर्द कर आगे की जांच कर रही है।

मामले का खुलासा करते हुए थाना प्रभारी शांत कुमार ने बताया कि मुंगेली दाउ पारा निवासी राजेश टंडन उर्फ पिता राजा पिता संतोष टंडन (22) हिर्री निवासी युवती से प्यार करता था। युवक की हरकत से परेशान युवती ने दूसरे से शादी कर ली। युवती के शादी करने की बात सिरफिरे आशिक को इतनी नागवार गुजरी कि उसने विवाहिता के 9 वर्षीय भाई का अपहरण 10 फरवरी को कर लिया। सिरफिरे आशिक ने विवाहिता को वीडियो को कॉल कर उसके भाई को दिखाया व बताया कि अगर वह उसके पास नहीं लौटी तो वह महिला के भाई की हत्या कर देगा। 9 वर्षीय भाई के अपहरण की जानकारी लगते ही विवाहिता ने अपनी मां को फोन कर घटना की जानकारी दी व बताया कि वह अपने भाई को छुड़ाने के लिए मुंगेली जा रही है। महिला ने सिरफिरे आशिक की बात को मानते हुए मुंगेली जाने वाली बस में बैठ गई। विवाहिता के बस में बैठने की पुष्टि होने के बाद आरोपित ने अपने दोस्त के माध्यम से अगवा किए गए किशोर को उसके घर पहुंचवा दिया। 9 वर्षीय बच्चे को घर में देख परिजनों के जान में जान आई और सभी हिर्री थाने मामले की शिकायत लेकर पहुंचे, मामले की गंभीरता को देखते हुए थाना प्रभारी व उनकी टीम ने मुंगेली पुलिस के सहयोग से विवाहिता को खोज निकाला व आरोपी को गिरफ्तार कर थाने लेकर आए। आरोपी को न्यायालय में पेश कर पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है।

छत्तीसगढ़ी एलबम बनाने के दौरान दोस्ती हुई थी आरोपित व महिला की
पुलिस की पूछताछ में पता चला कि अपहरण करने वाला आरोपित राजेश टंडन छत्तीसगढ़ एलबम बनाता, रिकार्ड करता है। विवाहिता भी कलाकार होने के कारण छत्तीसगढ़ कार्यक्रम में डांस किया करती थी। कई स्टेज शो व कार्यक्रम में काम करने के दौरान दोनों के बीच दोस्ती हो गई थी।

युवती पर करता था संदेह, इस कारण अलग हो गए रास्ते
छत्तीसगढ़ी कार्यक्रम के दौरान दोनों के बीच दोस्ती थी लेकिन राजेश उसे प्यार समझने लगा था। विवाहिता अगर किसी से बात करते दिख जाती थी वह उसके साथ मारपीट कर दूसरे लड़कों से अलग रहने प्रताडि़त करता था। राजेश की हरकत से परेशान युवती ने नम्बर बदल लिया व परिवारिक सहमति से शादी भी कर ली थी।

युवती के शादी की जानकारी होने के बाद बनाई अपहरण व विवाहिता को बुलाने की योजना
आरोपी राजेश टंडन युवती से बेइंतहा प्यार करने लगा था। युवती के नम्बर बदलने के बाद वह उसकी तलाश में काफी भटका तो पता चला कि युवती की शादी हो चुकी है। शादी की जानकारी लगते ही वह विवाहिता को दुबारा हासिल करने की योजना बनाकर उसके भाई का अपहरण कर लिया।

अपहरण कर किशोर को छुपाया था तिफरा में
छत्तीसगढ़ी वीडियो व एलबम बनाने के दौरान राजेश विवाहिता के घर जाया करता था इस कारण उसका छोटा भाई भी उसे जानता था। राजेश ने इस बात का फायदा उठाया और 9 वर्षीय बच्चे का अपहरण कर लिया। उसे बिलासपुर तिफरा में अपने दोस्त के यहां बहला फुसलाकर रखे हुए था। विवाहिता के फोन आने के बाद किशोर को दोस्त के साथ उसके घर छोड़वा दिया।

पल्सर के माध्यम से पकड़ा आरोपी
शातिर सिरफिरे आशिक ने विवाहिता के मुंगेली पहुंचते ही उसे मुंगेली के दाउपारा में बंधक बनाकर एक कमरे में बंद कर रखा था। वहङ्क्ष अपना मोबाइल भी बंद कर दिया था। पुलिस ने जब आरोपी की तलाश शुरू की मोबाइल बंद होने के कारण आरोपित राजेश का पता नहीं चल रहा था। छोटे भाई ने बताया कि आरोपी उसे पल्सर 220 में बैठाकर ले गया था। पुलिस ने सब छोड़ दाउपारा को सील कर पल्सर 220 खोजना शुरू किया। पुलिस को मोटर सायकल मिली तो आरोपी भी मिल गया। आरोपी विवाहिता को एक कमरे में बंद कर रखा था। वह भी कमरे के अंदर ही था।

9 वर्षीय बच्चे के अपहरण की घटना व उसकी बड़ी बहन विवाहिता को बंधक बनाने की शिकायत पर तत्काल कार्रवाई करते हुए मुंगेली कोतवाली थाना प्रभारी विश्वजीत सिंह की मदद से महिला को खोजा गया है। महिला को सकुशल उसके परिजनों के सुपुर्द कर आरोपी को न्यायालय में पेश आगे की कार्रवाई चल रही है।
- यून एन शांत कुमार, थाना प्रभारी हिर्री

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned