निजी स्कूलों के खिलाफ अभिभावकों ने किया संयुक्त संचालक का घेराव, कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा

अभिभावकों ने निजी स्कूलों द्वारा फीस न पटाने की सूरत पर बच्चों को ऑनलाइन क्लास से बाहर करने का आदेश भी जारी कर रखा है। अभिभावक (Parents Protest) निजी स्कूल के इस आदेश के खिलाफ प्राइवट स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते रहे।

By: Ashish Gupta

Updated: 07 Sep 2020, 11:29 PM IST

बिलासपुर. तारबाहर घोड़ादाना स्कूल स्थित कार्यालय में संयुक्त संचालक आरएस चौहान का सोमवार को सर्व शिक्षक संघ ने घेराव किया। अभिभावकों ने निजी स्कूलों (Private Schools Taking Fees) द्वारा फीस न पटाने की सूरत पर बच्चों को ऑनलाइन क्लास से बाहर करने का आदेश भी जारी कर रखा है। अभिभावक (Parents Protest) निजी स्कूल के इस आदेश के खिलाफ प्राइवट स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते रहे।

संयुक्त संचालक ने कार्रवाई का अधिकार जिला शिक्षा अधिकारी के पास होने की बात कहते हुए पल्ला झाड़ लिया। मालूम हो कि निजी स्कूलों के द्वारा हाईकोर्ट का आदेश आने के बाद अभिभावकों को ट्यूशन फीस के नाम पर हजारों का बिल थमा दिया गया है। अभिभावकों का कहना है कि निजी स्कूल हाईकोर्ट के आदेश की आड़ में ट्यूशन फीस की जगह स्कूल की एनुअल फीस ही वसूल करने की कोशिश में लगे हुए हैं।

जिला शिक्षा अधिकारी ने ली निजी स्कूल संचालकों की बैठक
महारानी लक्ष्मी बाई शासकीय कन्या विद्यालय में जिला शिक्षा अधिकारी व निजी स्कूल संचालनों की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी ने सभी निजी स्कूलों से ट्यूशन फीस लेने व फीस जमा न होने पर किसी भी बच्चे को ऑनलाइन क्लास से न हटाने की बात कही। निजी स्कूल संचालकों ने अपनी बात रखते हुए स्कूल के कर्मचारियों के वेतन, स्कूल के अन्य खर्च का हवाला देते हुए फीस कम न करने पर असमर्थता जताई है, साथ ही हाईकोर्ट आदेश का उल्लघंन न करने की बात भी रखी है।

जिला शिक्षा अधिकारी बिलासपुर अशोक भार्गव ने कहा, संयुक्त संचालक कार्यालय का घेराव करने की बात पता चली है। निजी स्कूलों से हाईकोर्ट के आदेश के परिपालन को लेकर बैठक भी की गई है। किसी भी बच्चे को ऑनलाइन क्लास से बाहर न करने व पिछले वर्ष ली गई फीस को ही लेने की बात कही गई है। स्कूल प्रबंधन ने भी अपना पक्ष रखा है।

संयुक्त संचालक बिलासपुर आरएस चौहान ने कहा, जिला शिक्षा अधिकारी ने पूर्व में ही आदेश जारी कर रखा है कि कोई भी निजी स्कूल किसी भी बच्चे को ऑन लाइन क्लास से वंचित नहीं करेगा, ऐसा होता हो निश्चित ही कार्रवाई की जाएगी।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned