एटीएम फ्रॉड केसों में पुलिस को बड़ी सफलता, आरोपी रिजवाल अंसारी पकड़ाया, हर महिनें करीब डेढ़ करोड़ रुपए का चूना लगा देता था

एटीएम फ्रॉड केसों में पुलिस को बड़ी सफलता, आरोपी रिजवाल अंसारी पकड़ाया, हर महिनें करीब डेढ़ करोड़ रुपए का चूना लगा देता था

Murari Soni | Updated: 12 Jun 2019, 09:19:52 PM (IST) Bilaspur, Bilaspur, Chhattisgarh, India

झारखंड से पंजाब तक फैला एटीएम फ्रॉड का गिरोह, सरगना का सहयोगी पंजाब से गिरफ्तार, ठगी रकम से हो रहा था बिल का भुगतान,police arrested,ATM fraud gang,ATM fraud gang arrested,ATM cards hacked,ATM,atm news,fraud,atm fraud,SMS alerts on ATM Fraud,atm fraud call,thousands of ATM fraud,ATM fraud gang,ATM fraud case,what to do after ATM fraud,20k atm fraud daily,Busted a gang of ATM fraud,Latest Atm Fraud News in Hindi,ATM Fraud News,Online Complaint in ATM Fraud,police arrested atm gang,

0 जामताड़ा के लोगों से ठगी की रकम को करता था अपने खाते में ट्रॉसफर
बिलासपुर. देशभर में एटीएम फ्रॉड़ के लिए मशहूर झारखंड का ठग गिरोह पंजाब तक फैल गया है। झरखंड से ठगी की रकम को मोबाइल वॉलेट के जरिए ठग गिरोह के सदस्य बिजली, डिश टीवी, टेलीफोल बिल का भुगतान कर रहे थे। साइबर सेल की टीम ने पंजाब से गिरोह के सरगना के सहयोगी को गिरफ्तार किया है। आरोपी से पुलिस पूछताछ कर रही है। एसपी कार्यालय में बुधवार को खुलासा करते हुए एएसपी ओपी शर्मा ने बताया कि जिले में एटीएम फ्रॉड के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। मोबाइल पर कॉल कर लोगों से एटीएम ब्लॉक व खाता बंद होने का झांसा देकर खाते से संबंधित गोपनीय जानकारियां लगकर गिरोह के सदस्य लाखों रुपए लोगों के खातों से पार कर रहे हैं। एक वर्ष पूर्व जून 2018 में जामताड़ा के एटीएम ठग गिरोह के सदस्य रिजवाल अंसारी पिता मकसूद, इजराइल अंसारी पिता मो. अली, विशाल गोयल पिता प्रेम व आशु गोयल पिता प्रेम को गिरफ्तार किया गया। आरोपियों ने बताया कि गिरोह का सदस्य पंजाब भटिंडा निवासी कलीम अशरफ पिता मौलाना नौशाद (30 ) है। झारखंड में सक्रिय गिरोह के सदस्यों द्वारा ठगी की रकम को कलीम अपने साथी मोहित गर्ग पिता शेषन गर्ग ( 38) के साथ मिलकर मोबाइल वॉलेट के जरिए अपने खाते में ट्रांसफर करता है। और कमशीन की रकम काटकर उन्हें वापस करता है। सन 2018 में पुलिस की टीम को चमका देकर गिरोह का सगरना फरार हो गया है। जिले के सरकंडा, चकरभाठा व सकरी थाना क्षेत्रों में 6 एटीएम ठगी के मामलों की जांच में साइबर सेल को पता चला कि एटीएम ठगी की रकम को पंजाब भटिंडा निवासी मोहित गर्ग पिता शेषन द्वारा मोबाइल वॉलेट के जरिए अपने खाते में ट्रांसफर और डिश टीवी, बिजली व टेलीफोन बिल के भुगतान कर रहाहै। साइबर सेल की टीम ने पंजाब भिटिंडा में दबिश देकर मोहित को हिरासत में लिया। उसके कब्जे से टीम ने सीपीयू, कार पीबी 03 एजी,1237,2 सिमकार्ड, 15 आधार कार्ड , 1 एयर पिस्टल, पेनकार्ड एसबीआई व एलआईसी बॉड पेपर, संपत्ति खरीदी के दस्तावेज जब्त किए गए।

 

सरगना के लिए करता हूं काम
आरोपी मोहित ने बताया कि एटीएम ठगी की रकम को वह मोबाइल वॉलेट के जरिए अपने व गिरोह के सरगना कलीम खान के बैंक खाते में ट्रांसफर करता है। बिल के भुगतान में रकम खर्च करने और अपना कमीशन काटने के बाद वह शेष रकम झारखंड के जामताड़ा, गिरीडीह, देवरघर समेत अन्य स्थानों से देशभर में ठगी करने वाले गिरोह के खातों में ट्रॉसफर कर देता है।

सरगना को पकडऩे टीम रवाना
एएसपी शर्मा ने बताया कि गिरोह के सरगना कलीम अशरफ पिता मौलाना नौशाद निवासी भटिंडा व अंकित गर्ग पिता गोरेलाल गर्ग निवासी भिटिंडा अब भी एटीएम ठगी कर रहे हैं। गिरोह के सरगना व उसके साथी को पकडऩे टीम रवाना कर दी गई है।

4-5 लाख प्रतिदिन
आरोपी मोहित ने बताया कि झारखंड के ठग गिरोह द्वारा प्रतिदिन करीब लाखों रुपए की ठगी की जाती है। वहां से रकम मोबाइल वॉलेट में ट्रॉसफर होती है। मोबाइल वाइलेट से कुछ ठगी की रकम पुलिस व बैंक द्वारा शिकायत मिलने पर वापस लोगों के खातों में भेज दी जाती है, लेकिन मोबाइल वाइलेट में अवधि खत्म होने के बाद प्रतिदिन करीब 4-5 लाख रुपए गिरोह के खाते में आ जाते हैं।

Instagram - https://www.instagram.com/patrikabsp/


Twitter - https://twitter.com/BilaspurPatrika


Facebook - https://www.facebook.com/pg/patrikabsp

 

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned