नौकरी से निकाले आवास मित्रों को दो साल से मानदेय का भुगतान नहीं

- जिला पंचायत, कलेक्टोरेट पहुंच ज्ञापन में 1 सितंबर को कलेक्टोरेट घेराव की चेतावनी दी

By: Bhupesh Tripathi

Published: 25 Aug 2020, 11:54 PM IST

बिलासपुर . प्रधानमंत्री आवास योजना में जिले के लगभग दो सौ आवास मित्रों को नौकरी से निकाल दिया गया है लेकिन इन आवास मित्रों को अब तक मानदेय का भुगतान नहीं किया है। 1 सितंबर को कलेक्टोरेट के घेराव की चेतावनी देते हुए जिला पंचायत एवं कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

आवास मित्रों ने जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान और सभापति अंकित गौरहा को बताया कि तीन साल काम करने के बाद उन्हें हटा दिया गया। इस दौरान शासन की ओर से आश्वासन दिया कि तीन साल का मानदेय का भुगतान जल्द कर दिया जाएगा। वादा के अनुसार दो साल बीत जाने के बाद भी आज तक तीन साल के मानदेय भुगतान नहीं किया गया है। जिले के 450 आवास मित्रों को डेढ़ वर्ष का मानदेय भुगतान नहीं किया गया है।

1.20 करोड़ बकाया
जिले में जिन आवास मित्रों को नौकरी से निकाला गया है। उनके मानदेय की राशि लगभग एक करोड़ बीस लाख रुपए है। यह राशि जिला पंचायत को करना शेष है।

पंचायत मंत्री ने मंगवाई जानकारी
सभापति अंकित गौराहा ने बताया कि मोबाइल पर पंचायत मंत्री को इसकी जानकारी दी गई है। मंत्री टीएस सिंहदेव ने इस मामले में पूरी जानकारी मांगी है जिसमें मानदेय भुगतान क्यों नहीं किया गया और देरी की वजह क्या है।

1 सितंबर को घेराव करेंगे
मानदेय की बकाया राशि के भुगतान के लिए सोमवार को लगभग पचास आवास मित्रों का दल जिला पंचायत, कलेक्टोरेट पहुंचा। इनमें प्रीतम यादव, गेंदराम मेहर, अजय यादव, सुरेंद्र कुमार अवधेश कश्यप, रजनी राय, मधु भारती, सावित्री सूर्यवंशी, पिंकी साहू , सुरेश सांडिल, कुंती सोनी, मनोज कुमार जगत आदि शामिल रहे। इन सभी लोगों ने संयुक्त हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन में 31 अगस्त तक बकाया मानदेय राशि भुगतान नहीं करने पर 1 सितंबर को कलेक्टोरेट का घेराव करने की चेतावनी दी है। इनके द्वारा जिला पंचायत व कलेक्टोरेट में अलग-अलग ज्ञापन सौंपा गया।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned