बैंक प्रबंधन ने ट्रिब्यूनल व हाईकोर्ट में लगाया केविएट

बैंक प्रबंधन ने ट्रिब्यूनल व हाईकोर्ट में लगाया केविएट

Anil Kumar Srivas | Publish: Sep, 11 2018 11:26:48 AM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

गड़बड़ी: वर्ष 2012 से 2014 के बीच में अनेक अधिकारी-कर्मचारियों की भर्ती की गई

गड़बड़ी: वर्ष 2012 से 2014 के बीच में अनेक अधिकारी-कर्मचारियों की भर्ती की गई

बिलासपुर . जिला सहकारी केंद्रीय बैंक ने हाल में ही 32 अधिकारी-कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है। इसके साथ ही अब बैंक प्रबंधन ने छग राज्य सहकारी अभिकरण (ट्रिब्यूनल) एवं हाईकोर्ट में केविएट दायर किया है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में वर्ष 2012 से 2014 के बीच में अनेक अधिकारी-कर्मचारियों की भर्ती की गई। भर्ती में गड़बड़ी की शिकायत हुई। जांच में अधिकारी-कर्मचारियों के दस्तावेज फर्जी पाए गए। इनमें पूर्व प्रभारी मुख्य कार्यपालन अधिकारी विकास गुरूद्वान, अधीक्षक संदीप जायसवाल, पर्यवेक्षक परेश गौतम आदि शामिल हैं। बैंक में फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर नौकरी हासिल करने का मामला सामने आने पर राज्य शासन ने जांच के लिए संयुक्त पंजीयक एलके ढारगावे, उपपंजीयक दिलीप जायसवाल के नेतृत्व में जांच समिति बनाई। जांच के दौरान समिति ने 32 अधिकारी-कर्मचारियों के दस्तावेज फर्जी पाए। साथ उक्त अधिकारी-कर्मचारियों को बैंक में लाखों रुपए की आर्थिक अनियमितताओं का दोषी भी पाया। इसके बाद बैंक प्रबंधन ने उन 32 अधिकारी-कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया। ये भर्तियां और घोटाले बैंक के पूर्व अध्यक्ष देवेंद्र पांडेय के कार्यकाल के हैं। करोड़ों रुपए के घोटाले में पूर्व में भी 100 अधिक कर्मचारियों को नौकरी से निकाला गया था।

फर्जी दस्तावेजों के सहारे नौकरी करने वाले 32 कर्मचारियों के खिलाफ केविएट दायर
जिला सहकारी केंद्रीय बैंक ने फर्जी दस्तावेजों के सहारे नौकरी करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त करने के तत्काल बाद छग राज्य सहकारी अभिकरण एवं हाईकोर्ट में केविएट दायर किया गया है। ताकि इन दोनों न्यायिक संस्थाओं में यदि बर्खास्त अधिकारी-कर्मचारी कोई याचिका लगाते हैं, तो स्थगन या अन्य आदेश के पूर्व बैंक प्रबंधन का पक्ष सुना जाए।

केविएट लगाया गया
32 अधिकारी-कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त किया गया। इस आदेश के बाद बैंक प्रबंधन की तरफ से हाईकोर्ट एवं सहकारी ट्रिब्यूनल में केविएट दायर किया गया है।
अभिषेक तिवारी, सीईओ, जेएसकेबी बिलासपुर

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned