बैंकों को पूर्णतया बंद रखने के लिए लामबंद हुए बैंकर्स, ज्यादातर ब्रांचों में ग्राहकों की उपस्थिति नगण्य

बैंकों में डिजिटल लेनदेन की सुविधाओं के कारण आम जनता को कोई परेशानी नहीं होगी। पांच दिनों तक हजारों की तादात में बैंक कर्मचारी, अधिकारी तथा आमजनता को लगातार पांच दिनों तक आइसोलेशन में जाने का अवसर मिलेगा।

By: Karunakant Chaubey

Published: 24 Sep 2020, 03:50 PM IST

बिलासपुर. शहर के विभिन्न सरकारी व निजी बैंकों के अधिकारियों व कर्मचारियों ने कहा कि दो दिन के कंटेनमेंट जोन में अधिकांशत: बैंकों में ग्राहकों की उपस्थिति नगण्य रही। अधिकांश शाखाओं में अधिकारी- कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव होने से बैंकों में स्टॉफ की काफी कमी हैं। एेसे में बैंकों को पूर्णतया बंद रखा जाता हैं तो डिजिटल लेनदेन की सुविधाओं के कारण आम जनता को कोई परेशानी नहीं होंगी। बैंकर्स क्लब ने कलेक्टर से यह मांग की है।

बैंकर्स क्लब के समन्वयक ललित अग्रवाल ने कहा कि रायपुर व सरगुजा जिले की तर्ज पर बिलासपुर में भी बैंकों को पूर्णतया बंद रखा जाए। बैंकों में डिजिटल लेनदेन की सुविधाओं के कारण आम जनता को कोई परेशानी नहीं होगी। पांच दिनों तक हजारों की तादात में बैंक कर्मचारी, अधिकारी तथा आमजनता को लगातार पांच दिनों तक आइसोलेशन में जाने का अवसर मिलेगा। इससे कोरोना को प्रभावकारी तरीके से रोका जा सकेगा। जब बैंक भी बंद रहेंगे तो कर्मचारी व जनता की आवाजाही कम होने से पुलिस को भी भागदौड़ कम करनी पडेग़ी। इन पांच दिनों में शनिवार व रविवार बैंक बंद रहते ही हैं।

यह मांग करने वालों में स्टेट बैंक अधिकारी संघ के अध्यक्ष राजकुमार शर्मा, आइबोक छत्तीसगढ़ के डीके हॉटी , डीजीएसए स्टेट बैंक कर्मचारी संघ के राजेश रावत, क्षेत्रीय सचिव स्टेट बैंक अधिकारी संघ एसबी सिंह, एजीएस सीजीबीईए के मनोज मिरी, जिला सचिव सीजीबीईए एनवी राव, सीजीबीईए बिलासपुर के अध्यक्ष अशोक ठाकुर, इंडियन बैंक कर्मचारी संघ के पीके अग्रवाल, पीएनबी के अविश्वनी प्रधान, मेलुराम कर्मवीर, स्टेट बैंक के एसके रजक,जितेंद्र शुक्ला, दीपक साहू, शरद बघेल, केनरा बैंक के सौरभ त्रिपाठी, अनुराग बजाज, बैंक ऑफ बड़ौदा के रूपम रॉय, बैंक ऑफ इंडिया के जसमीत भाटिया, आईडीबीआई बैंक की दीपा टन्डन, यूनियन बैंक के प्रमोद सिंह, पंजाब एंड सिंध बैंक के दुर्जित मुखर्जी, एचडीएफसी बैंक के तरुण मेहता, यस बैंक के प्रतीक ढोढ़ी, एक्सिस बैंक के हितेश्वर तिवारी आदि शामिल हैं।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned