अडानी ग्रुप के प्रोजेक्ट में हुआ बड़ा हादसा, एक कर्मचारी की मौके पर दर्दनाक मौत, 5 अन्य कर्मचारी गंभीर

अडानी ग्रुप के प्रोजेक्ट में हुआ बड़ा हादसा, एक कर्मचारी की मौके पर दर्दनाक मौत, 5 अन्य कर्मचारी गंभीर

Murari Soni | Updated: 12 Jun 2019, 07:42:53 PM (IST) Bilaspur, Bilaspur, Chhattisgarh, India

छत्तीसगढ़(Chhattisgarh) में एक तरफ जहां आदिवासी अडानी ग्रुप(adani group) के कई कार्यों और प्रोजेक्टों का विरोध कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ बिलासपुर(Bilaspur) में अडानी गु्रप(adani group) के एक बड़े प्रोजेक्ट (big project)में बड़ा हादसा (big accident)हो गया।adani group project in Chhattisgarh,big accident,Adani Enterprises,Adani Group,adani group project in Chhattisgarh,one died,one killed,tribal Organizations news,Tribal Organizations,the tribal organization,labor tribal organization,

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ में एक तरफ जहां आदिवासीअडानी ग्रुप के कई कार्यों और प्रोजेक्टों का विरोध कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ बिलासपुर में अडानी गु्रप के एक बड़े प्रोजेक्ट में बड़ा हादसा हो गया। जिसमें एक मजदूर की मौके पर ही मौत हो गई और 5 लोग घायल हो गए। तुर्काडीह बाईपास के पास नेशनल हाईवे 6 लेंथ सड़क का निर्माण कार्य चल रहा है। शाम करीब 5 बजे खोडऱी फाटक के पास स्लैब ढलाई के लिए बांधा जा रहा सेंट्रिंग रॉड गिर गया। रॉड गिरने से एक मजदूर दब गया वहीं 5 घयाल हो गए। सरिया हटाने के बाद पता चला मजदूर की मौत हो गई है। घायलों को सिम्स व निजी हॉस्पिटल में उपचार के लिए दाखिल कराया गया है। घायलों की स्थिति सामान्य बताई जा रही है।

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के तहत पेंड्रीडीह से कोनी तक 6 लेंथ सड़क निर्माण कार्य का ठेका आडानी ग्रुप को मिला है। आडानी ग्रुप इस कार्य को लोकल कम्पनी डीबी इंफ्राइस्ट्रक्चर से पूरा करवा रहा है। पुल निर्माण में करीब 25 मजदूर सेंट्रिंग रॉड बांधने का काम कर रहे थे। शाम 5 बजे के स्लेब ढलाई के लिए बांधा जा रहा सेंट्रिंग रॉड हवा के कारण काम कर रहे मजदूर अर्जुन सिंह पिता पदुम सिंह (27) साल के ऊपर गिर गया। वहीं नीचे काम कर रहे पांच मजदूर भी इसकी चपेट में आने से घायल हो गए।


मौके पर काम कर रहे मजदूरों ने घायल मजदूरों को उपचार के लिए नजदीकी हॉस्पिटल ले गए। वहीं तीन मजदूरों को उपचार के लिए सिम्स लाया गया। जांच के दौरान सिम्स के डॉक्टरों ने अर्जुन पिता पदुम सिंह निवासी नूनेरा पाली को मृत घोषित कर दिया वहीं दो अन्य घायल देवन्द्र सिंह पिता महेश (24) व हेमंत पिता लक्ष्मी मोरगे का उपचार चल रहा है।
अव्यवस्था एक बार फिर हुई उजागर
जिले का सबसे बड़ा हॉस्पिटल व खुद का विद्युत सब स्टेशन होने के बाद भी सिम्स में लाइट की व्यवस्था खस्ता हाल है दुर्घटना में घायल मजदूरों को जब सिम्स लाया गया तो लाइट गोल थी। मरीजों को अंदरूनी चोट आई है या नहीं इसके लिए एक्स-रे करवाना था। लेकिन लाइट नहीं होने के कारण मजदूरों का एक्सरे नहीं हो सका।

घटना की जानकारी लगते ही सांसद अरुण साव, महापौर किशोर राय के साथ मौके पर पहुंचे और घायलो का हाल चाल जाना। मरीजों से मुलाकात के दौरान सिम्स में लाइट गोल थी। सिम्स के जनरेटर भी काम नहीं कर रहे थे। इसे देखते हुए सांसद अरुण साव ने फटकार लगाई।

 

Big accident in  <a href=Adani Group project in Bilaspur Chhattisgarh" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/06/12/photo_2019-06-11_20-19-52_4701195-m.jpg">

सांसद के सामने बिजली कर्मी को सस्पेंड करने की धमकी देते रहे प्रभारी एमएस
सिम्स में लापरवाही का आलम यह है कि आधे घंटे से लाइट गोल रही और सांसद घायलों से मिलने सिम्स पहुंच गए लेकिन लाइन की व्यवस्था को दुरुस्थ करने लाइन मैन नहीं पहुंचा। सांसद की फटकार के दौरान प्रभारी एमएस लाइन मैन को तत्काल लाइन शुरू करे नहीं तो सस्पेड कर दूंगा की धमकी देते रहे।

हाइवे पर पुल बनाने के दौरान हुए हादसे के घायलों से मिलने बिलासपुर विधायक शैलेष पांडेय सिम्स पहुंचे थे। मजदूरो का हाल-चाल लेने के बाद पुलिस अधीक्षक बिलासपुर को इस मामले में एफआईआर करने के निर्देश दिए हैं।
सेंट्रिंग को रॉड के सहारे बांधा गया
बताया जा रहा है कि एनएचएआई के ठेकेदारों की गंभीर लापरवाही के चलते एक मजदूर की मौत हो गई। वहीं 5 मजदूर घायल हो गए। सेंट्रिंग रॉड को बांधने के लिए पाइप की जगह पर सरिया का ही इस्तेमाल किया गया था। इससे राड में मजबूती नहीं आ सकी और वह हवा का दबाव पड़ते ही काम कर रहे मजदूर के ऊपर गिर गया ।
डीबी इंफ्राइस्ट्रक्टर करा रहा काम
लोखड़ी फाटक के पास चल रहे 6 लेंथ का ठेका आडानी ग्रुप को मिला है। आडानी ग्रुप के इस प्रोजेक्ट को बिलासपुर की लोकल निर्माण कम्पनी डीबी इंफ्राइस्ट्रक्टर कांट्रेक्टर सनील सिंह इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में लगे हुए है। घटना स्थल पर मजदूरों की सुरक्षा संबंधी कोई भी इंतजाम नहीं किया गया था इसके चलते यह हादसा हो गया।
8.12 करोड़ की लागत से हो रहा निर्माण
लोखडी फाटक के पास बन रहे 6 लेंथ निर्माण कार्य पेंड्रीडीह से तुकार्डीह कोनी तक बन रहे निर्माण कार्य 850 मीटर लम्बा व लागत 8.12 करोड रुपए की है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned