खरीदी केन्द्रों पर असुविधाओं पर नजर रखने भाजपा ने गठित की निगरानी समिति

- धान खरीदी केन्द्रों पर किसानों को होने वाली असुविधाओं पर रखेंगे नजर
- बीजेपी का खरीदी केन्द्रों पर किसानों को जबरिया प्रताड़ित करने का आरोप

By: Ashish Gupta

Updated: 12 Dec 2020, 12:26 AM IST

बिलासपुर. प्रदेश भारतीय जनता पार्टी की कार्य योजना अनुसार भाजपा जिला संगठन बिलासपुर द्वारा बिलासपुर जिले के समस्त भाजपा मंडलों में धान खरीदी केन्द्रों पर भाजपा मंडल अध्यक्षों की अनुशंसा अनुसार निगरानी समिति का गठन किया गया है। भाजपा द्वारा घोषित निगरानी समिति के सदस्य बिलासपुर जिले में अपने मंडल के धान खरीदी केन्द्रों पर किसानों को होने वाली असुविधाओं को दूर करने का प्रयास करेंगे एवं पूरी मुस्तैदी के साथ नजर रखेंगे।

गौ-सेना कार्यकर्ताओं ने की राज्य में पूर्ण शराबबंदी की मांग, CM को दिलाई वादे की याद

भाजपा जिला अध्यक्ष रामदेव कुमावत, जिला महामंत्री घनश्याम कौशिक, मोहित जायसवाल ने कहा कि किसानों से धान खरीदी नवम्बर माह से ही प्रारंभ हो जाना चाहिए था लेकिन प्रदेश में कांग्रेस की सरकार ने 1 दिसम्बर से धान खरीदी प्रारंभ की है, देर से धान खरीदी प्रारंभ करने के बाद भी किसानों को धान खरीदी केन्द्रों पर अनेक कठिनाइयों एवं समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र 21 से, विधायकों के सवालों की लगी झड़ी

धान खरीदी केन्द्रों पर सरकार के दबाव में कार्यरत कर्मचारियों द्वारा किसानों को जबरिया प्रताडि़त किया जा रहा है। कभी बारदाना का बहाना बनाते हैं किसानों की उपज को कम तौलते हैं, किसानों द्वारा जल्दी करने पर पैसा मांगते हैं, धान खराब है नमी है कहकर इंकार कर देते हैं। धान खरीदी केन्द्रों पर कर्मचारियों द्वारा धान लेने में देरी करने के कारण जाम की स्थिति बन रही है एवं किसानों का रकबा कम करने से किसान कम धान बेच पा रहे हैं व धान बेचने हेतु किसान को टोकन के लिए भी इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। प्रदेश का अन्नदाता किसान सरकार एवं धान खरीदी केन्द्रों पर नियुक्त कर्मचारियों के रवैये से परेशान हो रहे हैं।

BJP
Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned