दबंगों ने पहले हाइवा ट्रक बेचा फिर उसे ही लूट लिया, रिपोर्ट लिखवाने थाने का चक्कर लगा रहा पीड़ित

जरहाभाठा निवासी अशोक प्रजापति ने परसदा रामावैली निवासी अभिषेक अग्रवाल से 7 अगस्त 2019 को हाइवा क्रमांक सीजी 10 सी - 5042 को सात लाख रुपए में खरीदा था। इस बिक्री का स्टाम्प में गवाहों के समक्ष नोटरी कराया गया । वाहन खरीदने के दिन से ही मंझवापारा जरहाभाठा निवासी राजकुमार लहरे सुपरवाइजर की हैसियत से वाहन को चलवाने लगा था।

By: Karunakant Chaubey

Published: 27 Nov 2020, 11:01 PM IST

बिलासपुर. एक पुरानी हाइवा ट्रक को सात लाख रुपए में एक व्यक्ति ने विक्रय किया। जिस व्यक्ति ने खरीदा था वह वाहन का नाम ट्रांसफर नहीं कराया था। इसलिए वाहन बेचने वालों ने जबरिया हक जताते हुए सुपरवाइजर को धमकाया और वाहन को लूटकर ले गए । मोबाइल छीनकर फेंक दिया । अश्लील गालियां दी। अब पीडि़त रिपोर्ट दर्ज कराने थाने का चक्कर लगा रहा है।

जरहाभाठा निवासी अशोक प्रजापति ने परसदा रामावैली निवासी अभिषेक अग्रवाल से 7 अगस्त 2019 को हाइवा क्रमांक सीजी 10 सी - 5042 को सात लाख रुपए में खरीदा था। इस बिक्री का स्टाम्प में गवाहों के समक्ष नोटरी कराया गया । वाहन खरीदने के दिन से ही मंझवापारा जरहाभाठा निवासी राजकुमार लहरे सुपरवाइजर की हैसियत से वाहन को चलवाने लगा था। लेकिन वाहन का आरसी बुक 26 नवंबर तक क्रेता के नाम पर नहीं हुआ था।

कोपरा तालाब में उक्त वाहन को लोड करवा रहा था। उसी दौरान अभिषेक अग्रवाल अपने पांच साथियों के साथ पहुंचा और चालक आशीष को जबरिया वाहन से उतार दिया । इसका विरोध करने पर अभिषेक ने राजकुमार लहरे से गालीगलौज की गई।

उसके मोबाइल को छीन का फेंक दिया और वाहन को जबरिया लेकर चला गया। सुपरवाइजर लहरे अभिषेक अग्रवाल के खिलाफ अजाक थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने गया । वहां पर उसकी रिपोर्ट नहीं लिखी गई। फिर अजाक डीएसपी को आवेदन करने कार्रवाई की मांग की गई ।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned